जितेन्द्र कुमार, पटना। राजधानी के घरों में पाइपलाइन से गैस आपूर्ति (पीएनजी) के लिए केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलने का इंतजार है। शहर की विभिन्न कॉलोनियों में करीब 3200 घरों तक सर्विस पाइपलाइन पहुंच गई है। करीब 170 लोगों के किचन में पीएनजी का मीटर भी लगा दिए गए हैं।

गैस ऑथरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) के अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल गैस प्रेशर और लीकेज चेकिंग के लिए एक्स-रे चल रहा है। किचन में 20 मिलीबार तक पीएनजी का प्रेशर होगा। नौबतपुर से पटना के बीच कुछ जगहों पर पाइप कनेक्शन का काम रह गया है। यदि सरकार की हरी झंडी मिली तो तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था के तहत नौबतपुर से टैंकर द्वारा पटना में आपूर्ति शुरू हो जाएगी। इसके लिए बीआइटी परिसर में मदर डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम तैयार कर लिया गया।

बीआइटी में भी पीएनजी कनेक्शन

बीआइटी के पांच छात्रावासों और 26 आवासीय परिसर में पीएनजी का कनेक्शन दिया गया है। जगदेव पथ, आरा गार्डेन, रामजयपाल नगर, शास्त्री नगर और बोर्ड कॉलोनी में करीब 3200 घरों तक वितरण लाइन बिछाने का काम पूरा हो गया है। गेल के मुख्य पाइपलाइन में 20 किलोग्राम का गैस प्रेशर रहता है। पटना मदर डिस्ट्रीब्यूशन स्टेशन से प्रेशर को कम कर सर्विस पाइप लाइन में चार किलोग्राम प्रेशर छोड़ा जाएगा। घरों के सप्लाई प्वाइंट पर इसे और भी घटाकर सिर्फ 20 मिलीबार प्रेशर आपूर्ति की जाएगी। किचेन में मीटर से होकर चूल्हे तक सुरक्षा मानक के अनुसार सिर्फ 20 मिलीबार गैस पहुंचेगी। मासिक खपत का रिकॉर्ड मीटर में दर्ज होगा। मीटर के अनुसार उपभोक्ताओं को  बिल भुगतान करना होगा।

अब कंकड़बाग में शुरू हुआ विस्तार

गांधी मैदान से जगदेव पथ तक पाइप लाइन विस्तार के बाद कंकड़बाग में कार्य आरंभ हो गया। न्यू बाईपास जीरो माइल से धनुकी मोड़, कुम्हरार, नालंदा मेडिकल कॉलेज, कांटी फैक्ट्री रोड, डॉक्टर्स कॉलोनी होते टेम्पो स्टैंड तक पाइप लाइन विस्तार का काम चल रहा है। दूसरे चरण में दानापुर से कैंट से लेकर दीघा होते गांधी मैदान तक पाइपलाइन का विस्तार किया जाएगा। दूसरे चरण में गांधी मैदान से गाय घाट होते पटना साहिब और नगला तक पीएनजी की आपूर्ति की योजना है।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस