जागरण संवाददाता, गोपालगंज : बिहार के गोपालगंज से बड़ी वारदात सामने आई है। मांझा थाना क्षेत्र के एक गांव में मंदिर में नानी के साथ पूजा करने गई चार वर्षीया बच्ची को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। इसके बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी गई। बदमाशों ने मासूम के शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया। गुरुवार की सुबह कुछ लोगों ने मासूम के शव को देख इसकी जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे सदर एसडीपीओ व मांझा थानाध्यक्ष ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया। 

 बताया जाता है कि मोतिहारी जिले के कोटवा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली चार वर्षीया ब'ची अपने नानी के घर में रह रही थी। ब'ची नानी के साथ मांझा थाना क्षेत्र के एक गांव में मंदिर पर पूजा करने गई थी। वहां भंडारा का आयोजन भी किया गया था। ब'ची भंडारा में भोजन करने चली गई और फिर वह अचानक गायब हो गई। उसकी नानी व गांव के लोगों ने काफी खोजबीन की। लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चल सका। गुरुवार की सुबह गन्ने की खेत में चार वर्षीय ब'ची के शव को देखकर स्थानीय लोगों ने सूचना पुलिस को दी।

नानी के बयान पर दर्ज की गई प्राथमिकी

सदर एसडीपीओ संजीव कुमार, मांझा थानाध्यक्ष विशाल आनंद व महिला थानाध्यक्ष आफसां परवीन ने मौके पर पहुंच कर जांच करने के बाद मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया। नानी के बयान पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। एसपी आनंद कुमार ने सदर एसडीपीओ संजीव कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठन कर आरोपितों को चिह्नित कर उनकी गिरफ्तारी करने का निर्देश दिया। पुलिस ने भैंसही मलाही टोला के चार युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हिरासत में लिए गए युवक भी घटना के वक्त मंदिर परिसर में थे। 

Edited By: Akshay Pandey