मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पटना, जेएनएन। बिहार के पूर्व आइपीएस अधिकारी अमिताभ दास (Amitabh Das) ने एके 47 बरामदगी मामले में फरार चल रहे बाहुबली विधायक अनंत सिंह से खुद की जान का खतरा बताते हुए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से सुरक्षा की गुहार लगाई है। डीजीपी को पत्र लिखकर उन्‍होंने सुरक्षा के लिए दो गोरखा जवानों की मांग की है।

अमिताभ दास ने बिहार पुलिस के मुखिया गुप्तेश्वर पांडे को भेजे गए पत्र में लिखा है कि विधायक अनंत सिंह सुपारी देकर उनकी हत्या करवा सकते हैं। इसके लिए उन्होंने गोपनीय पत्र का हवाला दिया है जो उन्होंने वर्ष 2009 में बिहार के निर्वाचन पदाधिकारी सुधीर कुमार राकेश को लिखा था। पत्र में उन्होंने बाहुबली विधायक अनंत सिंह के घर पर एके 47 सहित अत्याधुनिक हथियारों का जखीरा होने की गोपनीय सूचना दी थी।
पूर्व आइपीएस अधिकारी ने डीजीपी को लिखे अपने पत्र में कहा है कि  दिनांक 5 मार्च 2009 को उन्‍होंने मोकामा विधायक अनंत सिंह के बारे में सूचना दी थी कि उनके लदमा (बाढ़ ) स्थित आवास में एके 47, एके 56 और लाइट मशीनगन सहित अवैध हथियारों का जखीरा है। इस सूचना के बाद 16 अगस्त 2019 को पूरे 10 वर्ष बाद विधायक के आवास पर पुलिस ने छापेमारी कर एके 47 बरामद किया। सूचना पुष्ट हुई। सत्यमेव जयते।
उन्होंने पत्र में आगे लिखा है कि अब विधायक उनकी हत्या कराने का षडयंत्र रच रहे हैं। उनके गुर्गों को सुपारी दी जा चुकी है। इसीलिए  तत्काल बीएमपी से दो गोरखा अंगरक्षक उपलब्ध कराए जाएं।
बता दें कि बीते 16 अगस्त को बाहुबली विधायक अनंत सिंह के नदावां गांव स्थित पैतृक घर से पुलिस को एके-47 और दो हैंड ग्रेनेड मिले थे। बरामदगी के बाद से विधायक फरार चल रहे हैं। उसके बाद उन्होंने दो वीडियो संदेश जारी किए हैं। माना जा रहा है कि वे जल्द ही सरेंडर कर देंगे।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप