पटना [चंद्रशेखर]। पटना एयरपोर्ट को अब पूरी तरह विकसित करने की योजना पर तेजी से काम शुरू हो चुका है। एक ओर नए टर्मिनल भवन के निर्माण के साथ फ्लाइट पार्किंग स्टैंड का निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा, वहीं इसकी लाइटिंग व्यवस्था को भी पूरी तरह दुरुस्त करने की कवायद शुरू कर दी गई है।

अभी तक जहां 28 विमानों की उड़ान में ही एयरपोर्ट प्रबंधन को काफी मशक्कत करनी पड़ती है, वहीं अगले सप्ताह तक कई आधुनिक उपकरणों के लगने से यहां से रात की उड़ानों को बेहतर तरीके से संचालित किया जा सकता है।

 

28 अक्टूबर से विंटर शिड्यूल शुरू होने जा रहा है। इस शिड्यूल में पटना एयरपोर्ट से 36 विमान उड़ान भरने लगेंगे। इतना ही नहीं अगले साल 25 मार्च से इस एयरपोर्ट से दिन-रात विमानों की उड़ान शुरू कर दी जाएगी। 

 

एयरपोर्ट अथॉरिटी की मानें तो 25 मार्च से समर शिड्यूल शुरू होने जा रहा है। विंटर शिड्यूल में कोहरे के कारण रात में विमानों की लैंडिंग में थोड़ी परेशानी हो सकती है। इसके कारण समर शिड्यूल में दिन-रात विमानों की लैंडिंग व उड़ान शुरू कर दी जाएगी।

 

अभी तक जहां पटना एयरपोर्ट से 26 विमान प्रतिदिन उड़ान भर रहे हैं, वहीं 28 अक्टूबर से विंटर शिड्यूल शुरू होते ही यहां से 36 विमान उड़ान भरने लगेंगे। जबकि रात्रि में उड़ान शुरू होने के बाद 25 मार्च से इस एयरपोर्ट से 50 से 55 विमान उड़ान भरने लगेंगे। दूसरी ओर, नए टर्मिनल भवन का निर्माण कार्य जारी रहेगा। 

 

28 अक्टूबर से पटना एयरपोर्ट से सबसे अधिक इंडिगो की 15 फ्लाइट, गो एयर की नौ फ्लाइट, स्पाइस जेट की पांच, जेट एयरवेज की तीन तथा एयर इंडिया की चार फ्लाइट्स प्रतिदिन उड़ान भरने लगेंगे। 25 मार्च 2018 से एयर एशिया, एलायंस एयरलाइंस व विस्टारा जैसी विमानन कंपनियों के हवाई जहाज भी यहां से उडऩे लगेंगे।

 

आने वाले दिनों में पटना से दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, जयपुर, अहमदाबाद, बागडोगरा, कोलकाता, वाराणसी, लखनऊ, रांची व काठमांडू के लिए सीधी उड़ान शुरू हो जाने की संभावना है। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस