सिसवन (सिवान), संवाद सूत्र। सिसवन थाना क्षेत्र के ग्यासपुर मठिया समीप रविवार की सुबह सरयू नदी में मछली मार रहे मछुआरों के होश उस समय उड़ गए जब जाल में मछलियों की जगह एक घड़ि‍याल फंस गया। हालांकि, मछुआरों ने उसे बाहर निकाला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। वन विभाग की टीम भी पहुंची और घड़ि‍याल को ले गई। इस दौरान लोगों का हुजूम वहां घड़‍ियाल को देखने के लिए उमड़ पड़ा। सरयू नदी में घड़ियाल पाए जाने की खबर के बाद से नदी के आसपास बसे गांव के लोगों में दहशत का माहौल है।

वन विभाग की टीम ले गई घड़‍ियाल को 

बताया जाता है कि ग्यासपुर मठिया के समीप सरयू नदी में प्रतिदिन की तरह रविवार की सुबह मछुआरे जाल लगाकर मछली मारने गए थे। जब मछली पकड़ने को लेकर सरयू नदी में जाल लगाया गया तो उसमें एक घड़ियाल फंस गया। जाल खींचने के दौरान वह काफी भारी लगा। लगा कि ढेर सारी मछलियां फंसी हैं। लेकिन जैसे ही जाल उपर आया, मछुआरे चौंक गए। जाल में बड़ा सा घड़‍ियाल फंसा था। घड़ियाल फंसने की खबर पूरे क्षेत्र में जंगल में आग की तरह फैल गई। घड़ियाल को देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

मछली मारते समय फंस गया घड़ि‍याल  

मछुआरों ने इसकी सूचना थाना को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष कुमार वैभव वहां पहुंचे। इसकी जानकारी वन विभाग को दी। थोड़ी देर बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। घड़ियाल को कब्जे में लेकर अपने साथ चली गई। मालूम हो कि अक्‍सर गंडक नदी में घड़‍ियाल के आने की खबरें मिलती रहती हैं। खासकर बाढ़ के दिनों में वे बहकर आ जाते हैं। वाल्‍मीकिनगर इलाके से घड़‍ियाल भटक जाते हैं। लेकिन सरयू में घड़ि‍याल मिलने से किनारे बसे लोगों में दहशत व्‍याप्‍त हो गया है। लोग बच्‍चों को नदी की ओर नहीं जाने दे रहे हैं।      

Edited By: Vyas Chandra