पटना, जेएनएन। बिहार पुलिस में सिपाही के 11880 पदों पर भर्ती के लिए रविवार को दो पालियों में परीक्षा संपन्न हुई। पहली पाली सुबह 10 से 12 बजे तक तो दूसरे पाली में 02 से 04 बजे तक अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। राजधानी में बिहार के कई जिलों से परीक्षार्थी शामिल हुए। पटना के अधिकांश कॉलेज और स्कूलों में परीक्षा आयोजित की गई थी। परीक्षा खत्म होने के बाद बिहार के कई जिलों के रेलवे स्टेशनों पर छात्रों का हुजूम उमड़ पड़ा। खासकर आरा में अभ्‍यर्थियों ने ट्रेन के इंजन तक पर बस स्टेशन पर भी अभ्यर्थियों की खासी भीड़ रही। पटना के कई चौराहों पर लंबा जाम लगा रहा।

प्रश्न पत्र लीक होने की उड़ती रही अफवाह 

रविवार को ली गई सिपाही बहाली परीक्षा के प्रश्न पत्र वायरल होने की अफवाह दिनभर वाट्सएप और सोशल मीडिया पर उड़ती रही। हालांकि पुलिस मुख्यालय और सिपाही चयन पर्षद के अध्यक्ष केएस द्विवेदी ने दावा किया कि कहीं से कोई पेपर लीक या वायरल नहीं हुआ है।

 

हिंदी में उलझे परीक्षार्थी

भागलपुर से आए पहली पाली की परीक्षा देकर निकले रिजवी ने बताया कि हिंदी थोड़ी कठिन थी, बाकी सवाल सामान्य थे। पालीगंज की सवर्णा ने बताया कि राज्यों से संबंधित कई सवाल पूछे गए थे। बिहार से जुड़े सवाल भी पूछे गए।

छात्रों के हुजूम से पटा पटना जंक्शन

शनिवार की सुबह से ही पटना में परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्रों का हुजूम ट्रेनों व बसों में लदकर पटना पहुंचने लगा था, जो रविवार को भी जारी रहा। शनिवार की शाम पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म हाउसफुल रहे। बेली रोड व बाईपास पर भी इसके कारण जाम जैसी स्थिति बनी रही।

राज्यभर में बनाए गए थे 550 केंद्र

केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के ओएसडी केके प्रसाद ने बताया कि परीक्षा की मुकम्मल तैयारी की गई थी। हेराफेरी करने वालों पर शिकंजा कसने के लिए तमाम इंतजाम सुनिश्चित किए गए थे। परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों की फोटोग्राफी भी की गई। वहीं, बॉयोमीटिक तरीके से उंगलियों के निशान भी लिए गए। सीएसबीसी के मुताबिक कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए कई इंतजाम किए गए। परीक्षा के लिए राज्य भर में 550 केंद्र बनाए गए थे। चयन पर्षद के मुताबिक पुरुष अभ्यर्थियों को उनके गृह जिले से बाहर सेंटर दिया गया था।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस