वैशाली, जेएनएन। बिहार में अपराधी पूरी तरह बेखौफ हाे गए हैं। सरेबाजार और दिनदहाड़े तो छोड़ दीजिए, अब जेल के अंदर हत्‍या की घटना को अंजाम दे रहे हैं। शुक्रवार को बिहार के हाजीपुर (वैशाली) मंडल जेल में बंद कैदी मनीष कुमार उर्फ तेलिया की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई है। मनीष हाल ही में हुए सोना लूट के मामले में गिरफ्तार हुआ था। लूटकांड के दूसरे आरोपित अन्नू सिंह गैंग ने पहले भी उस पर गोली चलाई थी। इस बार बाहर से बंदूक मंगाई गई और राजा नामक कैदी ने तेलिया को गोली मार दी। जेल के अंदर बाहर से बंदूक पहुंचने और कैदी की हत्या को लेकर पूरा जेल प्रबंधन सवालों के घेरे में है। 

पहले जख्‍मी की बात आई थी सामने

बेहद सुरक्षित माने जाने वाले वैशाली के हाजीपुर जेल में कैदी मनीष की हत्‍या के बाद से ही वहां अफरातफरी मची हुई है। शुरू में ताे कैदी मनीष सिंह के जख्‍मी हाेने की बात कही गई थी, लेकिन बाद में इसकी पुष्टि हो गई कि सोना लूट कांड के विचाराधीन कैदी मनीष की मौके पर ही मौत हो गई थी।

मनीष को पूर्व में भी मारी गई थी गोली

इस वारदात की खबर मिलने के बाद हड़कंप मच गया। आनन-फानन में जेल आइजी, डीएम एसपी समेत जिले के सभी वरीय प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारी मंडल कारा पहुंच गए। हत्याकांड में दो कैदियों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई। मनीष को पूर्व में भी कोर्ट में पेशी के दौरान गोली मारी गई थी। जेल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। इधर, वारदात की जानकारी मिलते ही स्वजन जेल गेट पर पहुंच गए और जमकर हंगामा किया।   

कई पुलिसकर्मी भी हुए चोटिल

हाजीपुर सदर के एसडीपीओ राघव दयाल ने बताया कि शुक्रवार करीब दो बजे मंडल कारा में वार्ड से कैदियों को बाहर निकाला गया था। इसी दौरान जयपुर सोना लूटकांड में संलिप्त और विचाराधीन कैदी मनीष कुमार उर्फ तेलिया की जेल अस्पताल में गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली मारने की घटना के लगभग 45 मिनट बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ पुलिस पदाधिकारी जेल के अंदर गए और सभी कैदियों को वार्ड के अंदर किया। इस दौरान कैदियों से हुई झड़प में कई पुलिस कर्मी चोटिल हो गए।  

अन्नू सिंह के गैंग ने वारदात को अंजाम दिया

एसडीपीओ ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि सोना लूटकांड में बंद शातिर अपराधी अन्नू सिंह के गैंग ने इस घटना को अंजाम दिया है। कैदी अन्नू सिंह ने जेल के अंदर हथियार मंगवाया है और उसके सहयोगी राजा कुमार ने मनीष को गोली मारी। दोनों से पुलिस पूछताछ कर रही है। जिस हथियार से गोली मारी गई, उसे जेल के अंदर ही कैंपस में लगे केले के पौधे के निकट से बरामद कर लिया गया है। वहां से मोबाइल और अन्य सामान भी बरामद किए गए हैं। इस हत्याकांड को जयपुर में हुए सोना लूटकांड से जोड़कर देखा जा रहा है। 

कम पड़ीं लाठियां, बैट-विकेट ले जेल में घुसे पुलिसवाले 

मंडल कारा में गोली मारकर कैदी की हत्या  के बाद कारा प्रशासन के सायरन पर  पहुंची पुलिस के पास लाठियां कम पड़ गईं। पुलिस के नए रंगरूटों ने लाठियां कम पडऩे पर जलावन की लकड़ी, क्रिकेट के बैट, विकेट लेकर मंडल कारा में घुस गए। रंगरूटों ने जेल के अंदर इन्हीं लाठियों के सहारे हंगामा कर रहे कैदियों को काबू किया।

वाहन में घंटों फंसे रहे कोर्ट से वापस लाए गए कैदी

न्यायालय में पेशी कराने के बाद कैदी वाहन से लाए कैदियों को मंडल कारा परिसर में कई घंटों तक कैदी वाहन में ही गुजारना पड़ा। मंडल कारा में सभी कार्रवाई पूरी होने के बाद ही सभी कैदियों को कैदी वाहन से उतारा गया। मंडल कारा में गोली मारकर हत्या करने के कुछ ही देर बाद न्यायालय से कैदियों को लेकर आने वाले वाहन आने शुरू हो गए। मंडल कारा के सभी वार्डों में चल रहे सर्च अभियान की वजह से कैदियों को बाहर ही रोकने का निर्णय लिया गया। उसके बाद सभी को पुलिस घेरे में  वाहन के अंदर रखा गया। वहीं, जख्मी कैदियों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप