पटना (मसौढ़ी) : धनरुआ थाना के लसगरीचक गाव में सोमवार की देर रात कुर्सी पर बैठकर नाच देखने को लेकर हुए विवाद में बरात पार्टी व ग्रामीणों के बीच जमकर मारपीट हो गई। इसमें दोनों पक्षों के कई लोग घायल हो गए। बाद में ग्रामीणों ने आधा दर्जन चक्र गोलियां भी दागीं। हालाकि इसमें किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। इधर पुलिस ने फायरिंग की घटना से इन्कार किया है।

सोमवार की रात लसगरीचक गाव के मुनारिक यादव के घर पर जहानाबाद से एक बरात आई थी। बरात के लिए गाव से पूरब बनाए गए शामियाने में नाच हो रहा था। पास के दुभारा व चालीसकुरवा गाव के भी ग्रामीण भी वहा पहुंचकर कुर्सी पर बैठ नाच देखने लगे। इसी बीच बरात पार्टी के कुछ लोगों ने उन्हें कुर्सी से उठा दिया। इसे लेकर दोनों पक्षों में विवाद बढ़ गया। जमकर मारपीट होने लगी। इसमें दोनों पक्षों के कुछ लोग घायल हो गए। बताया जाता है दोनों पक्षों के कुछ लोगों ने दारू पी रखी थी। इधर ग्रामीण वहा से उठकर अपने घर चले गए। कुछ देर के बाद एक गाव के कुछ ग्रामीणों ने पाच-छह चक्र गोलियां चलाई। हालाकि इसमें किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। सूचना पाकर मौके पर पुलिस भी पहुंची। हालांकि पुलिस ने फायरिंग की घटना से इन्कार किया है। थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने बताया कि किसी भी पक्ष ने कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई है। न ही इसे लेकर किसी को गिरफ्तार ही किया गया है।

Posted By: Jagran