पटना, जेएनएन। पटना एयरपोर्ट पर रविवार के अपराह्नन उस समय अफरातफरी मच गई, जब फायर ब्रिगेड की गाड़ी (दमकल) फंस गई। जानकारी मिलते ही मौके पर आनन-फानन में अधिकारी पहुंचे। साथ ही एयरपोर्ट की टेक्निकल टीम भी पहुंच गई। वहीं, संभावित खतरे को देखते हुए पटना एयरपोर्ट की तमाम उड़ानों को बंद कर दिया गया। इसके साथ ही, भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष के आने का कार्यक्रम भी कुछ देर के लिए टल गया। वहीं दिल्‍ली से आ रहे विमान को पटना में उतरने की अनुमति नहीं मिली तो पहले रांची गया, लेकिन में तकनीकी करणों से उतरने की अनुमति नहीं मिली। इसके बाद उस विमान को लखनऊ में लैंड किया गया।  

बताया जाता है कि जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रनवे के पास गीली मिट्टी के कारण फायर ब्रिगेड की गाड़ी फंस गई थी। इसके कारण बुधवार की दोपहर विमानों की आवाजाही लगभग चार घंटे तक बाधित रही। इस दौरान नौ विमानों को वाराणसी, लखनऊ, रांची और कोलकाता के लिए डायवर्ट कर दिया गया। गो एयर की पटना-बेंगलुरु, एयर इंडिया की पटना-दिल्ली और इंडिगो की पटना-दिल्ली जाने वाली फ्लाइट एयरपोर्ट के रनवे पर ही खड़ी रही। दोपहर 12:10 मिनट से अपराह्न 3:30 तक रनवे पर विमानों की आवाजाही पूरी तरह ठप रही। क्रेन और जेसीबी की मदद से फायर ब्रिगेड की गाड़ी निकाली गई जिसके बाद परिचालन शुरू हुआ।

दरअसल, रनवे के पास से पक्षियों को भगाने के लिए पटाखे का इस्तेमाल किया जाता है। इन्हीं पटाखों के कारण रनवे के फुलवारीशरीफ छोर की झाड़ी में आग लग गई थी। फायर ब्रिगेड की गाड़ी जब आग बुझाकर लौट रही थी तभी रनवे के किनारे बारिश से गीली हुई मिट्टी में फंस गई। इसके बाद यात्री सुरक्षा को देखते हुए एयरपोर्ट प्रशासन ने विमानों की आवाजाही तत्काल रोक दी। इस दौरान इंडिगो की फ्लाइट उड़ान भरने के लिए रनवे पर चली गई थी, लेकिन उसे वापस बुला लिया गया। 

तीन विमानों में तीन घंटे तक बैठे रहे यात्री 

जिस समय रनवे को बंद किया गया उस समय गो एयर की पटना-बेंगलुरु, एयर इंडिया की पटना-दिल्ली और इंडिगो की पटना-दिल्ली जाने वाली फ्लाइट में यात्री बैठ चुके थे। लगभग साढ़े तीन घंटे तक सभी यात्री विमान में ही बैठे रहे। अपराह्न 3:40 मिनट पर गो एयर ने पहली उड़ान भरी। 

हवा में मंडराते रहे विमान, एक दर्जन फ्लाइट लेट 

एयरपोर्ट का रनवे बंद होने के कारण पटना के आकाश में कई विमान मंडराते रहे। यात्रियों को सूचना दी जा रही थी कि एयरपोर्ट ब्लॉक है। अभी फ्लइट लैंड नहीं की जा सकती है। इसके बाद अलग-अलग फ्लाइटों को आसपास के विभिन्न एयरपोर्ट पर उतारा गया। बाद में पटना का रनवे खुलने पर सभी विमानों का पटना में लैंडिंग कराया गया। 

एयरपोर्ट परिसर में परेशान रहे यात्री

पीक ऑवर में पटना एयरपोर्ट का रनवे बंद होने के कारण यात्री परेशान रहे। बड़ी संख्या में एयरपोर्ट परिसर में यात्री बैठे रहे। एक के बाद एक विमान लेट होने से यात्रियों का दबाव बढ़ता गया। यात्रियों को लेने आए परिजन भी घंटों इंतजार करते रहे। 

कहते हैं अधिकारी 

रनवे के पास झाड़ी में लगी आग बुझाने गए फायर ब्रिगेड की गाड़ी फंसने के कारण विमानों का परिचालन बाधित था। युद्धस्तर पर काम कर रनवे को फिर से शुरू कर दिया गया है। 

- भूपेश नेगी, निदेशक, पटना एयरपोर्ट

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस