पटना/ नालंदा, जेएनएन। बिहार में अब तक प्रतियोगी परीक्षाओं में मुन्‍ना भाई गिरफ्तार होते रहे हैं। पहली बार कोई महिला स्‍कॉलर पकड़ी गई है। मामला बिहार के नालंदा जिले का है। सिपाही भर्ती परीक्षा में हुई है यह गिरफ्तारी। रविवार को आयोजित सिपाही भर्ती परीक्षा में दूसरे की जगह परीक्षा दे रही हिलसा के कौशिक नगर की रहने वाली कृति सिन्हा को बिहारशरीफ शहर के आरपीएस स्कूल स्थित परीक्षा केंद्र से पकड़ा गया है। वहीं, पूरे बिहार में 483 केंद्रों पर हुई सिपाही भर्ती परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। कुल 109 लोगों पर कार्रवाई की गई है। 


यूपीएससी की तैयारी करती है कृति

जानकारी के अनुसार कृति दिल्ली में रह कर संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) परीक्षा की तैयारी कर रही थी। सिपाही भर्ती परीक्षा में वह सगी बहन की जगह परीक्षा देते हुए पकड़ी गई। इधर, कृति सिन्हा ने कुछ भी बताने से इनकार किया। उसने सिर्फ इतना कहा कि वह अपनी बहन गुडिय़ा के बदले परीक्षा में बैठी थी। 

गिरफ्तार स्‍कॉलर नहीं थी नर्वस

जिस परीक्षा केंद्र से कृति पकड़ी गई, वहां के वीक्षक ने बताया कि कृति पकड़े जाने के बाद भी नर्वस नहीं थी। उसकी एक्टिविटी को देखने से लगा कि वह प्रोफेशनल है। इधर, पुलिस को यह बात समझ नहीं आ रही कि आखिरकार यूपीएससी की तैयारी करने वाली कृति ने बहन की मामूली परीक्षा के लिए अपने करियर को दांव पर कैसे लगा दिया। बिहार थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि कहीं किसी गिरोह से कृति के तार तो नहीं जुड़े हैं। समाचार लिखे जाने तक कृति को जेल भेजने की तैयारी की जा रही थी।

बिहार में 483 केंद्रों पर हुई सिपाही भर्ती परीक्षा 

रविवार को राज्य में 483 केंद्रों पर हुई सिपाही भर्ती परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हो गई। केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) ने परीक्षा में चोरी और दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने के आरोप में राज्यभर में 109 लोगों पर कार्रवाई की। आयोग ने परीक्षा में कहीं से प्रश्नपत्रों के लीक या वायरल नहीं होने का दावा किया है। अभ्यर्थियों की बड़ी तादाद को देखते हुए परीक्षा केंद्रों के आसपास सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए थे। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस