पटना, जेएनएन।  बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी चुनाव आयोग से काफी नाराज हैं। उन्होंने चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप लगाया है और ट्वीट कर आयोग से कई सवालों का जवाब मांगा है।

राबड़ी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि देशभर के स्ट्रोंग रूम्स के आसपास ईवीएम की बरामदगी हो रही है। ट्रकों और निजी वाहनों में ईवीएम पकड़ी जा रही है। ये कहाँ से आ रही है,कहाँ जा रही है? कब,क्यों,कौन और किसलिए इन्हें ले जा रहा है? क्या यह पूर्व निर्धारित प्रक्रिया का हिस्सा है? चुनाव आयोग को अतिशीघ्र स्पष्ट करना चाहिए।

इसके बाद राबड़ी ने ट्वीट कर चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप लगाया है। ट्वीट में राबड़ी ने लिखा है कि CBI, ED की तरह चुनाव आयोग ने भाजपा से पहले गठबंधन किया अब उसमें विलय कर बेशर्मी से काम कर रहा है। वोटिंग के दिन तेजस्वी यादव को फ़र्ज़ी तरीक़े से फँसाने और बदनाम करने के लिए उसकी जगह किसी और का फ़ोटो लगा दिया गया ताकि बेवजह विवाद उत्पन्न कर नकारात्मकता व विघ्न पैदा किया जाए।

तेजस्वी यादव के साथ चुनाव आयोग का ऐसा सलूक दुर्भाग्यपूर्ण है। सोचिए आम मतदाता के साथ कैसा होगा? चुनाव आयोग ने तेजस्वी की जगह किसी और का फ़ोटो लगाने के मामले में क्या कारवाई की? इसका दोषी कौन है? तेजस्वी के साथ ही ऐसा क्यों किया गया? क्या साज़िश रची जा रही थी?

अपने तीसरे और आखिरी ट्वीट में राबड़ी ने लिखा है कि मेरी बेटी रोहिणी मतदान से एक दिन पहले सिंगापुर से चलकर पटना आयी लेकिन मतदाता सूची से उसका नाम नदारद था? भाजपा के कार्यकर्ता सह चुनाव आयोग अधिकारी बतायें उसका नाम सूची से क्यों और किसलिए काटा गया?

राबड़ी देवी ने इन सारे सवालों के जवाब चुनाव आयोग और उसके अधिकारियों से मांगा है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari