बिक्रम : लालू यादव गरीबों की आवाज हैं। आरएसएस के लोग इसे दबाने की कोशिश कर रहे हैं। बिहार में साप्रदायिकता का जहर फैलाया जा रहा है। इससे राजद के लोग डरने वाले नहीं हैं। उक्त बातें बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने बिक्रम के कनपा खेल मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं। उन्होंने अपने अंदाज में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार के बारे में चुटकी ली। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के संबंध में कहा कि वे बिहार में आकर साम्प्रदायिकता को बढ़ावा दे रहे हैं। अंत मे पगड़ी बाधते हुए शख बजाया और कहा कि अपनी सेना की ताकत बढ़ाने का यह शखनाद है। हम लोग डरने वाले नहीं चीरने वाले लोग हैं। कृष्ण के वंशज जेल से नहीं डरते। सभा को पालीगंज विधायक जयवर्धन यादव, देवमुनि यादव, हरख यादव, सुरेंद्र यादव आदि ने भी संबोधित किया।

: पूर्व स्वास्थ्य मंत्री का बिहटा में स्वागत :

संवाद सूत्र, बिहटा : गुरुवार को पटना से बिक्रम के रानीतालाब में आयोजित कार्यक्रम में जाने के दौरान बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव का राजद कार्यकर्ताओं ने बिहटा चौरस्ता पर फूलमालाएं पहनाकर स्वागत किया। पूर्व मंत्री ने कहा कि बिहार में सुशासन की नहीं बल्कि लूटपाट की सरकार चल रही है। गरीबों से उनका हक छीना जा रहा है। मजदूर बेरोजगार हैं, किसान परेशान हैं। अपराध चरमसीमा पर है। बिहारवासी त्राहिमाम कर रहे हैं। नौजवान रोजगार के लिये भटक रहे हैं। जनता का सरकार से भरोसा उठ गया है। वहीं राजद महासचिव छोटन यादव ने कहा की सरकार अपने तंत्र के बल पर गरीबों की आवाज को दबाना चाह रही है। मौके पर राजद जिला अध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव, अनिल यादव, राजद युवा नेता अंशु यादव, सुनील यादव, मनीष यादव, अर्जुन यादव, अरुण यादव, रणजी यादव, मंजय यादव सहित दर्जनों समर्थक मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप