पटना। मीठापुर रेलवे ओवर ब्रिज से पुनपुन मार्ग को जोड़ने के लिए अधिग्रहीत की गई जमीन-मकान खाली कराने के लिए प्रशासन ने तीन नोटिस सर्व की थी। इसके बाद जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए इन्हें खाली करा लिया। जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर सिंह खुद मौके पर मौजूद रहे और उन्होंने अपने सामने लोडर और भारी मशीनों से दो मंजिला मकान धराशायी करा दिया।

डीएम ने बताया कि मीठापुर टू पुनपुन लेन के बीच प्रस्तावित फ्लाईओवर के लिए 27 भू-धारियों की 77 डिसमिल जमीन अर्जित की गई थी। 21.72 करोड़ रुपये भुगतान लेने के लिए भू- धारियों को तीन बार नोटिस दी गई। पहली नोटिस 4 अगस्त को दी गई थी। 24 नवंबर को दूसरी और 17 दिसंबर 2021 को तीसरी नोटिस दी गई थी। कुछ भूधारियों ने नोटिस नहीं ली। तो कुछ ने नोटिस लेने के बाद भी मुआवजा भुगतान के लिए बैंक खाता और अन्य कागजात नहीं दिए। लोक उपयोगी परियोजना का निर्माण को शनिवार से अतिक्रमण हटाने का कार्य आरंभ कर दिया है। कार्यस्थल पर मुआवजा भुगतान के लिए शिविर लगाकर 10 लोगों से आवेदन प्राप्त किया गया है। आवेदकों को तीन दिनों में मुआवजा भुगतान कर दिया जाएगा।

बताया गया कि इस परियोजना के लिए भू अर्जन की कार्यवाही वर्ष 2007-08 में शुरू की गई थी। वर्ष 2012-13 में भू अर्जन शुरू हुआ। बाद में रद्द हो गया । वर्तमान में नए सिरे से भू अर्जन की कार्यवाही की जा रही है । काग़•ात जमा करने वाले सभी भुधारियों को 3 दिन में भुगतान करने की समुचित तैयारी की गई है । -मौके पर मौजूद रहे जिलाधिकारी, देखरेख में करायी कार्रवाई

- मीठापुर-पुनपुन फ्लाई ओवर को अर्जित जमीन-मकान का तीन दिनों में मुआवजा : डीएम

Edited By: Jagran