पटना [जेएनएन]। आम बजट आ चुका है। इसमें कई सेक्टरों को राहत तो मिली है, लेकिन कुछ की परेशानी भी बढ़ गई है। मोबाइल फोन बाजार की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं। दरअसल, आम बजट में मोबाइल पर कस्टम ड्यूटी 15 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद कर दी गई है। अब शीघ्र इसका असर भी दिखाई देगा।

पहले से ही सुस्त है बाजार

मोबाइल बाजार पहले से ही सुस्त है। मल्टी ब्रांड मोबाइल फोन डीलर प्रवीण आनंद ने कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद जुलाई 2017 से बाजार की गति मद्धिम हुई। अब धीरे-धीरे बाजार पटरी पर आ रहा था। इसी बीच आम बजट में कस्टम ड्यूटी में वृद्धि हो गई है। प्रवीण का कहना है कि अब आनेवाले दिनों में 10 हजार रुपये का मोबाइल फोन साढ़े दस हजार रुपये में मिलेगा। आशंका है कि इससे मोबाइल बाजार में हो रहा सुधार फिर थम जाएगा। 

पटना में दो करोड़ का कारोबार घटने की आशंका 

पटना में 20 से 22 करोड़ रुपये का कारोबार हर महीने ब्रांडेड मोबाइल कंपनियां करती हैं। इसमें एमआइ, सैमसंग, मोटोरोला, लेनेवो, पैनासोनिक, ओपो, वीवो आदि कंपनियां शामिल हैं। डीलरों का कहना है कि दो से चार दिन में नया स्टॉक आ जाएगा। नये स्टॉक पर बढ़ी हुई दरें ही लागू होंगी।

इसके बाद बाजार की गति थोड़ी धीमी होने की आशंका है। अनुमान है कि बिक्री में 10 से 20 फीसद तक की गिरावट आ सकती है। इस तरह से कारोबार का दायरा सिमटकर 18 से 20 करोड़ रुपये मासिक पर जा सकता है। 

बाजार में बढ़ी गहमागहमी

रामलखन पथ के मोबाइल विक्रेता तरुण ने कहा कि कीमतें बढऩे से पहले ही ग्राहक मोबाइल खरीदने के लिए आने लगे हैं। आम बजट के बाद बाजार में आंशिक तेजी आ गई है। आज ग्राहकों की संख्या में कुछ वृद्धि हुई है। सभी ने मोबाइल तो नहीं खरीदा लेकिन कीमत पूछने वाले करीब 15 फीसद ग्राहक अधिक आए। 

बजट की घोषणा 
मोबाइल फोन पर कस्टम ड्यूटी को 15 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद किया गया है। मोबाइल फोन तथा टीवी के कुछ कलपुर्जों व एसेसरीज, ऑटोमोबाइल पाट्र्स, सिल्क फैब्रिक, ट्रक-बस के रेडियल टायर जिन पर कस्टम ड्यूटी को बढ़ाकर सीधे 15 फीसद करने का एलान किया गया है। अभी इन पर शून्य से 10 फीसद तक की कस्टम ड्यूटी लगती है। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस