पटना, राज्य ब्यूरो। पटना व मुंगेर में कोराना वायरस के संक्रमण से जुड़े मामले अाने के बाद अापदा प्रबंधन विभाग ने जिला प्रशासन के सहयोग के लिए एनडीअारएफ की छह टीमों को प्रतिनियुक्त किए जाने को बिहटा स्थित एनडीअारएफ की नौवीं बटालियन के समादेष्टा को पत्र लिखा है। पत्र में यह कहा गया है कि एनडीअारएफ की दो टीमों को मुंगेर अौर चार टीमों को पटना जिले में अावश्यक उपकरणों के साथ लगाए जाएं। इन्हें जांच किट के साथ रहने को कहा गया है। मुख्य सचिव ने कहा कि हम बाहर से कोई टीम नहीं मंगा रहे, जो यहां उपलब्ध हैं उन्हीं को लगाने की बात कही गयी है। बता दें कि अब तक बिहार में सात मरीज संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से तीन मुुंगेर तथा चार पटना के हैं। इनमें से मुंगेर के एक मरीज की मौत हो गई है। 

अापदा प्रबंधन विभाग ने गुरुवार को अपने कोरोना ट्रैकिंग मैनेजमेंट सिस्टम पर काम अारंभ कर दिया। इस क्रम में वैसे लोगों के घर लाल पर्चा लगाए जाने का काम सुबह-सुबह अारंभ किया जो दस दिन पहले बाहर के शहरों या फिर दूसरे देश से अपने घर लौटे हैं। इन्हें होम क्वरंटाइन में रखा जाना है। इनके घर के अासपास के दस घरों को भी इस श्रेणी में रख वहां लाल पर्चा चिपकाए जाने का काम अारंभ हो गया है।

इसके अतिरिक्त सोशल डिस्टेंश पर भी काम शुरू किया गया है। सोशल डिस्टेंश के तहत जो नियम है, उसे केंद्र में रख भीड़-भाड़ वाले इलाके व किराना दुकान अादि के बाहर सड़क पर चूना से गोला बनाया गया है। उसे घेरे में खड़े होने की व्यवस्था की गयी है। इस व्यवस्था से दुकानों के सामने सोशल डिस्टेंश को लागू कर पाना संभव हो रहा है। वहीं, हाल के दस दिनों में बाहर से अाने वालों की संपूर्ण सूची कल तक पूरी होने की उम्मीद है। उसके बाद उस डाटा बैंक के अाधार पर काम अागे बढ़ेगा।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस