बक्सर [जेएनएन]। बिहार के बक्‍सर में सात साल की मासूम के साथ हैवानियत की गई। वारदात को अंजाम देने वाला भी 15 साल का नाबालिग है। शिकायत मिलने पर सक्रिय हुई पुलिस ने आरोपित किशोर को हिरासत में ले लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपित किशोर ने कबूल किया कि उसने दुष्‍कर्म किया है। बच्ची की मेडिकल जांच में दुष्कर्म की पुष्टि हो चुकी है।

बंद पड़े स्‍कूल में जे लाकर किया दुष्‍कर्म

बक्‍सर महिला थानाध्यक्ष सुशीला कुमारी ने बताया कि दुष्कर्म की यह घटना शनिवार शाम की है। कोरानसराय थानाक्षेत्र के एक गांव की सात साल की मासूम बच्ची गांव में ही मौजूद दुकान पर नमकीन खरीदने के लिए गई थी। तभी गांव के ही एक 15 वर्षीय किशोर ने बच्ची को अकेले देख उसे बहला-फुसला कर पास ही मौजूद बंद पड़े स्कूल के भवन में ले गया। वहां उसने जबरन घटना को अंजाम दिया। दुष्‍कर्म के बाद वह रोती-बिलखती बच्ची को छोड़कर फरार हो गया।

पुलिस हिरासत में आरोपित किशोर

बच्‍ची किसी प्रकार अपने घर पहुंची और परिजनों को इसकी जानकारी दी। माता-पिता तुरंत उसे लेकर कोरानसराय थाना पहुंचे। मामला संज्ञान में आते ही पुलिस सक्रिय हो गई। प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पीडि़त बच्ची के साथ परिजनों को महिला थाना भेजने के साथ ही पुलिस अधीक्षक को घटना की जानकारी दी गई।एसपी के आदेश पर त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित किशोर को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

आराेपित ने कबूला अपराध

इधर, महिला थाना में मुकदमा दर्ज करने के बाद बच्‍ची की मेडिकल जांच कराई गई। पुलिस पूछताछ में किशोर ने आरोपों को कबूल कर लिया। अब महिला पुलिस द्वारा बच्ची का कोर्ट में बयान दर्ज कराने की प्रक्रिया चल रही है। हालांकि, आरोपित के किशोर होने के कारण मामला जुवेनाइल कोर्ट में ही संचालित किया जाएगा। सदर डीएसपी सतीश कुमार ने कहा कि कानूनी प्रावधानों के तहत आरोपित को क्या सजा मिलती है यह कोर्ट के ऊपर निर्भर करता है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप