पटना । उत्तर बिहार से पटना की ओर आने वाले वाहनों के लिए हाजीपुर-हरिहर नाथ मंदिर रोड से वन-वे संपर्क रहेगा। वहीं पटना से उत्तर बिहार जाने वाले वाहन पहलेजा से एनएच 19 पकड़ेंगे। संपर्क मार्गो पर जाम न लगे, इसे ध्यान में रखकर यह व्यवस्था की गई है। वहीं जून में गाय घाट-हाजीपुर पीपा पुल हटा दिया जाएगा। हालांकि इससे पहले दीघा गंगा पुल पर वाहन परिचालन शुरू करने की तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

दीघा गंगा सड़क पुल पर वाहनों के लिए नौ मीटर चौड़ी सड़क और पैदल यात्रियों के लिए दोनों तरफ डेढ़-डेढ़ मीटर का फुटपाथ बनाया गया है। जून में गंगा के जलस्तर में वृद्धि से पीपा पुल बहने का खतरा हो सकता है। पीपा पुल को खोलने के पहले दीघा गंगा पुल को 11 जून तक चालू करने की तैयारी है।

: कहां-कहां वन-वे :

पटना की ओर से उत्तर बिहार जाने के लिए दानापुर की ओर से दीघा पुल पर चढ़ने के लिए वन-वे रोड का निर्माण किया गया है। उत्तर बिहार की ओर से पटना आने वाली गाड़ियां दीघा थाने के सामने अशोक राजपथ पर उतरेंगी। पटना की ओर से उत्तर बिहार की तरफ जाने-आने के लिए वन-वे संपर्क पथ के निर्माण को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

: उत्तरी हिस्से में वन-वे रूट :

उत्तर बिहार से पटना आने के लिए हाजीपुर एनएच-98 से बाबा हरिहरनाथ मंदिर रोड से गंगा पुल पर चढ़ने का रास्ता होगा। इसी तरह पटना की ओर से हाजीपुर, मुजफ्फरपुर, छपरा और सिवान जाने वाली गाड़ियां पहलेजा होते गोविंदचक गांव के पास एनएच 19 पहुंचेंगी। हाजीपुर की ओर से संपर्क पथ की अधिकतम चौड़ाई पांच मीटर है जबकि पहलेजा रोड 12 मीटर चौड़ी है।

: 17 खंभों पर संपर्क पथ :

गंगा के उत्तरी हिस्से में कुल 17 खंभों पर संपर्क पथ निर्माण को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इनमें आठ खंभों पर प्री-फैब्रिकेटेड स्टील की संरचना से निर्माण किया गया है। पांच खंभों पर बाक्स गर्डर का निर्माण कराया गया है। गंगा नदी पार करने के बाद प्रथम चार खंभे रेलवे की भूमि पर बने हैं।

: चार किलोमीटर लंबा पुल :

दीघा और पहलेजा के बीच गंगा में चार किलोमीटर लंबे पुल का निर्माण पूरा हो गया है। पुल पर वाहनों के परिचालन के लिए नौ मीटर चौड़ी सड़क पर मास्टिक एस्फाल्ट (डामर) का काम अंतिम चरण में पहुंच गया है। उत्तरी हिस्से में 1200 मीटर रोड का कालीकरण कार्य आरंभ हो गया है।

--------

Posted By: Jagran