पटना [जेएनएन]। बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) की मुश्किलें लगातार बढ़ रहीं हैं। पैतृक घर से एके 47 (AK 47) व हैंड ग्रेनेड (Hand Grenade) बरामदगी मामले में वे पटना के बेऊर जेल (Beur Jail) में बंद हैं। इस बीच अपने बड़े दुश्‍मन भोला सिंह (Bhola Singh) की हत्‍या की सुपारी देने के मामले में वायरल हुए एक ऑडियो की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट (Forensic Test Report) पुलिस ने गुरुवार को कोर्ट (Court) को सौंपी। रिपोर्ट के अनुसार अनंत सिंह की आवाज वायरल ऑडियो से मैच कर गई है। वॉयस सैंपल जांच में 23 शब्‍द मैच कर गए हैं। वहीं अनंत सिंह के प्रतिनिधि श्रवण कुमार उर्फ बंटू सिंह ने गुरुवार को ही संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि वॉयस रिपोर्ट फर्जी है।
वायरल अॉडियो में अनंत सिंह की ही आवाज
बाढ़ के न्यायिक दंडाधिकारी कुमार माधवेंद्र की अदालत में गुरुवार को पुलिस ने मोकामा के विधायक अनंत सिंह के वॉयस सैंपल की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट पेश की। यह सैंपल मुकेश सिंह और भोला सिंह की हत्या की साजिश से जुड़े ऑडियो टेप के वायरल होने के बाद लिया गया था। वायरल ऑडियो में अनंत सिंह की आवाज होने की बात कही जा रही थी। 
जांच रिपोर्ट में ये 23 शब्‍द कर गए मैच
फोरंसिक जांच में वायरल वीडियों के 23 शब्‍द विधायक अनंत सिंह की आवाज के सैंपल से मैच कर गए हैं। फोरेंसिक जांच पटना स्थित एफएसएल के प्रभारी निदेशक अशोक कुमार दाव और सहायक निदेशक उमेश कुमार सिंह ने की थी। जांच में मैच कर गए शब्‍द ये हैं-
1. सांझ के
2. कुल के मंगा
3. होशियार
4. अपने कर
5. गोतिया
6. कईले रहा
7. गाली
8. घोड़ा जे
9. गोली भी
10. एकदम बरियार
11. सिक्सर
12. बरलवा
13. बुतरुआ
14. सौ परसेंट
15. मोबाइलवा
16. एक्टिव
17. मुखिया
18. छप्पन
19. फायदा
20. बिहने
21. भेजवा
22. सिस्टमा
23. आदमिया
फिर से पुलिस लेगी रिमांड पर
जब कोर्ट ने सीलबंद लिफाफे को खोलकर जांच रिपोर्ट देखी तो विधायक का वॉयस सैंपल वायरल ऑडियो के 23 शब्दों से मैच हुआ। पंडारक थानेदार रमन वशिष्ट ने कहा कि दोबारा मोकामा विधायक और लल्लू मुखिया को रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ करेगी। इस संबंध में बाढ़ अनुमंडल अभियोजन पदाधिकारी सुनील कुमार कंधवे ने बताया कि एफएसएल रिपोर्ट में विधायक के वॉयस सैंपल से 23 शब्द मैच हुए हैं। 
यह था मामला
ज्ञात हो कि 14 जुलाई को बाढ़ अनुमंडल के पंडारक थाना क्षेत्र से तीन बदमाशों को पुलिस ने हथियार के साथ धर दबोचा था। इनमें पटना के बुद्धा कॉलोनी थानांतर्गत चकारम निवासी गोलू कुमार, दुजरा निवासी मो. छोटू और मैनपुरा निवासी छोटू उर्फ राजवीर शामिल थे। पुलिस को इनके पास से लोडेड पिस्तौल मिली थी। सूत्रों के अनुसार, पूछताछ में इन्होंने बताया था कि मोकामा विधायक अनंत सिंह के इशारे पर भोला सिंह और उसके भाई मुकेश की हत्या करने की साजिश रची गई थी। वारदात को अंजाम देने के लिए इन्हें यहां भेजा गया था। अनंत सिंह के करीबी विकास सिंह और लल्लू मुखिया लगातार इनसे संपर्क कर रहे थे। हत्या करने के बाद शूटरों को फरार करने की जिम्मेदारी लल्लू मुखिया और उसके भाई रणवीर यादव को सौंपी गई थी। पुलिस ने उनके पास से आधा दर्जन मोबाइल बरामद किए थे। इसमें एक ऑडियो क्लिप भी मिला था। 
ऑडियो क्लिप की हुई जांच
इसके बाद पुलिस ने पंडारक थाने में अनंत सिंह, लल्लू मुखिया और उसके भाई रणवीर यादव के खिलाफ कांड संख्या 75/19 दर्ज किया था। पुलिस ने उक्त ऑडियो को फोरेंसिक जांच के लिए एफएसएल को सौंपा था। फिर कोर्ट के आदेश पर अनंत सिंह का वॉयस टेस्ट पटना के बेली रोड स्थित सरदार पटेल भवन पुलिस मुख्यालय की फोरेंसिक लैब में एक अगस्त को हुआ था। अनंत सिंह फिलहाल अपने पैतृक घर बाढ़ अनुमंडल के लदमा गांव से बरामद एके 47, कारतूस और ग्रेनेड के मामले में बेउर जेल में बंद हैं।
24 मिनट 58 सेकेंड का था विधायक का ऑडियो सैंपल 
अनंत सिंह से जुड़े जिस ऑडियो सैंपल को जांच के लिए फोरेंसिक विभाग ने लिया था, वह 24 सेकेंड 58 मिनट का था। गुरुवार की सुबह कोर्ट खुलते ही पंडारक थानेदार रमण वशिष्ठ पुलिस बल के साथ बाढ़ कोर्ट पहुंचे और अपर न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में सीलबंद लिफाफे में वॉयस सैंपल रिपोर्ट पेश की। इस दौरान अदालत में काफी गहमागहमी थी। अनंत सिंह के काफी समर्थक भी वहां मौजूद थे। इसके अलावा हर शख्स यह जानने को उत्सुक था कि रिपोर्ट में क्या है? 
विधायक  के प्रतिनिधि ने कहा- फर्जी है जांच रिपोर्ट 
अनंत सिंह के प्रतिनिधि श्रवण कुमार उर्फ बंटू सिंह ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि वॉयस रिपोर्ट फर्जी है। उन्होंने कहा कि मीडिया को अधिकारियों ने जानकारी दी थी कि वॉयस सैंपल जांच के लिए हैदराबाद भेजा गया है। लेकिन पुलिस ने जो रिपोर्ट कोर्ट में पेश की है वह पटना की है। हैदराबाद वाली रिपोर्ट कहां है? उन्होंने इसे साजिश करार देते हुए कहा कि विधायक को फंसाने के लिए ऐसा किया गया है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप