पटना, जेएनएन। बिहार में चमकी बुखार से लगातार हो रही मौत के मामले में केंद्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्रियों की परेशानियां बढ़ती दिख रही हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पर मुजफ्फरपुर में दायर किए गए परिवाद मामले में वहां की निचली अदालत ने संज्ञान ले लिया है और सीजेएम ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। इस मामले की जांच ACJM करेंगे और फिर इस केस के मामले में 28 जून को अगली सुनवाई होगी।

बता दें कि मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से लगातार हो रही बच्चों की मौत के बीच सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने कोर्ट में परिवाद दाखिल किया था। अपने परिवाद में हाशमी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को बच्चों की मौत का जिम्मेदार बताते हुए सीजेएम कोर्ट में परिवाद दाखिल किया था। 

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से मांगा है जवाब

इससे पहले आज दो याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने भी बिहार में हो रही बच्चों की मौत पर कड़ा रूख अख्तियार किया है। चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौतों के बीच कोर्ट ने बिहार सरकार से सात दिनों के भीतर जवाब मांगा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार, बिहार सरकार और यूपी सरकार को नोटिस जारी किया है। बिहार से जुड़े मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की है और तीन मुद्दों पर जवाब मांगा है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप