बिहारशरीफ, जागरण संवाददाता। बिहार के एक युवक को यह मंजूर नहीं था कि उसकी शादी प्र‍ेमिका के सिवाय किसी और से हो। यही वजह है कि खुद की शादी किसी और लड़की से तय होने पर उसने खतरनाक कदम उठा लिया। युवक ने अपनी होने वाली पत्‍नी को फोन कर किसी बहाने घर से बाहर बुलाया और उसकी हत्‍या कर डाली। मृतका के स्‍वजनों ने पुलिस के सामने ऐसा ही शक जताया है। बहरहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। पुलिस ऑनर किलिंग के एंगल से भी जांच कर रही है। मृतका के मोबाइल को पुलिस ने कब्‍जे में ले लिया है। उसकी कॉल डिटेल से पुलिस को अहम सुराग मिलने की उम्‍मीद है।

खलिहान में रखे गेहूं के भूसे के ढेर से मिला शव

गुरुवार की रात थरथरी के द्वारिका बिगहा में खलिहान में रखे गेहूं के भूसे के ढेर से युवती का शव बरामद किया गया। कुछ ही दिनों बाद नूरसराय के मीरपुर गांव में युवती की शादी होने वाली थी। बताया गया कि युवती किसी का फोन कॉल आने पर घर से निकली थी। युवती द्वारिकाबीघा के अशोक चौहान की पुत्री खुशबू कुमारी बताई जाती है। अशोक चौहान ईंट भट्ठों को मजदूर सप्लाई करने का काम करता है।

पुलिस के हाथ लगा है युवती का मोबाइल

पुलिस ने शव को बरामद करने के बाद पोस्टमाॅर्टम भी करा दिया है। हत्या के कारणों की पड़ताल की जा रही है। आशंका है कि शादी तय होने से नाराज उसके प्रेमी ने उसे बुलाकर हत्या कर दी होगी। युवती का मोबाइल फोन पुलिस को हाथ लगा है। कॉल डिटेल खंगाली जा रही है।

नूरसराय के युवक के साथ तय हुई थी शादी

युवती के स्वजन का आरोप है कि मंगेतर ने ही हत्या की है। उसका किसी अन्य युवती से प्रेम सम्बंध था, इसी कारण उसे रास्ते से हटा दिया। बताया गया कि नूरसराय के मीरपुर गांव के आजाद कुमार से शादी तय थी। युवती बिहारशरीफ के किसी कॉलेज से ग्रेजुएशन कर रही थी। वहीं युवक आजाद पटना में पढ़ाई कर रहा था।

20 जून को होनी थी खुशबू की शादी

लड़के के दोस्तों ने बताया था, लड़की दुबली-पतली व नाटी है

अशोक चौहान की तीन पुत्रियों में सबसे छोटी रही खुशबू की शादी आगामी 20 जून को मीरपुर के आजाद कुमार के साथ होनी थी। आजाद ने लड़की के पिता से उपहार में 6 लाख रुपए एवं बुलेट बाइक की मांग की थी, जिस पर सहमति बन गई थी। बीते सरस्वती पूजा (16 फरवरी) के दिन लड़का को तिलक चढ़ाया गया था।

17 फरवरी को आए थे वर पक्ष के लोग

17 फरवरी को वर पक्ष के लोग खुशबू के छेका-चुमामन के लिए आए थे। इस रस्म के दौरान आए लड़के के दोस्तों ने लौटकर बताया था लड़की दुबली-पतली एवं नाटी है। खुशबू बिहारशरीफ (17 नंबर) के केएसटी कालेज में कला संकाय में प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। वह घर में विधवा चाची मंजू देवी के साथ सोती थी। मंजू के मोबाइल फोन पर ही खुशबू के मंगेतर आजाद की फोन काॅल आती थी।

सात अप्रैल की रात 10 बजे घर से निकली थी मंजू

7 अप्रैल की रात करीब दस बजे मंजू देवी जब सो रही थी, तब खुशबू घर से निकली थी। वह चाची का मोबाइल फोन लेकर निकली थी। स्‍वजनों को आशंका है कि आजाद ने फोन कॉल कर उसे बाहर में मिलने का भरोसा दे दबाव देकर बुलाया होगा। युवती को गांव से सटे पूरब अमरौरा गांव के खेत में ले जाकर दोनों हाथ बांध गला काट हत्या कर दी गई। लटकते सिर सहित शव को लाकर बृजनन्दन प्रसाद के खलिहान में गेहूं के भूसे के ढेर में छुपा दिया गया था।

बुधवार की रात से ही हो रही थी खोजबीन

स्‍वजनों ने रात से ही लड़की की खोजबीन शुरू कर दी थी। गुरुवार की रात इसकी सूचना थाना पुलिस को भी दी गई थी। गुरुवार देर शाम को भूसा ढोने के दौरान लड़की का शव मिला। पुलिस ने घटनास्थल से लड़की की चप्पल बरामद की है। शव के साथ मोबाइल फोन भी बरामद किया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021