पटना, जेएनएन। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्रा का पार्थिव शरीर मंगलवार को दोपहर बाद दिल्ली से पटना लाया गया। बुधवार को उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव में किया जाएगा। पटना एयरपोर्ट पहुंचे दिवंगत नेता के पार्थिव शरीर का दर्शन करने के लिए विभिन्‍न दलों के नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे। पटना एयरपोर्ट से सीधे उनका पार्थिव शरीर विधानसभा लाया गया, जहां सीएम नीतीश कुमार समेत अनेक नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा पार्थिव शरीर को सदाकत आश्रम स्थित कांग्रेस ऑफिस भी ले जाया गया। 

मुख्‍यमंत्री नीतीश ने किया पुष्‍प चक्र अर्पित
विधानमंडल परिसर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डॉ जगन्‍नाथ मिश्रा के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित किया। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, उद्योग मंत्री श्याम रजक, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा व राज्य मंत्रिमंडल के कई सदस्य, विधायक, विधान पार्षद, पूर्व विधायक और विधान पार्षदों ने डॉ मिश्र को अपनी श्रद्धांजलि दी।

विधान परिषद के पोर्टिकों में भी दी गई श्रद्धांजलि
विधान परिषद पोर्टिको में भी डॉ मिश्र का पार्थिव शरीर लाया गया। वहां पूर्व सभापति अवधेश नारायण सिंह, विधान पार्षद संजय सिंह उर्फ गांधीजी, ललन सर्राफ और राधा मोहन शर्मा के अलावा पूर्व विधान पार्षद किरण घई, बिनोद कुमार सिंह, गुलाम गौस कार्यकारी सचिव विनोद कुमार के अलावा विधान परिषद कर्मियों ने श्रद्धांजलि दी। आवास पर श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी व जदयू नेता छोटू सिंह भी शामिल थे।

पटना स्थित आवास पर भी लोगों ने किया अंतिम दर्शन
इसके बाद लोगों के अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर पटना के शास्त्रीनगर स्थित उनके आवास पर रखा गया है। बुधवार की सुबह पूर्व मुख्यमंत्री जगन्‍नाथ मिश्रा का पार्थिव शरीर पैतृक गांव के लिए ले जाया जाएगा। बुधवार को ही उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव सुपौल जिले के बलुआ बाजार गांव में राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा। इसे लेकर बलुआ बाजार में प्रशासनिक सुरक्षा बढ़ा दी गई है। अंतिम संस्‍कार को लेकर सुपौल के डीएम व एसपी खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। 

कांग्रेस ऑफिस में अर्पित किए गए श्रद्धासुमन
उधर, कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में भी पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. जगन्नाथ मिश्रा का पार्थिव शरीर दोपहर करीब तीन बजे ले जाया गया, जहां कांग्रेसियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। डाॅ. मिश्रा दो बार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे थे। उनका पार्थिव शरीर करीब आधा घंटा तक वहां रखा गया। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. मदन मोहन झा, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह, चंदन बागची, अनिल शर्मा, निखिल कुमार, अशोक राम, डाॅ. समीर कुमार सिंह, कौकब कादरी, डाॅ. शकील अहमद खान, प्रेमचंद मिश्रा, राजेश राठौर, आनंद माधव, जया मिश्रा आदि ने पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर डाॅ. मिश्रा के पुत्र पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा भी मौजूद थे। 

सोमवार काे दिल्‍ली में हुआ था निधन
बता दें कि डॉ जगन्नाथ मिश्रा तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री बने थे। पहली बार उन्होंने मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी वर्ष 1975 में संभाली तो दूसरी बार वे 1980 में मुख्यमंत्री बने। आखिरी बार वे वर्ष 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। इसके बाद वह 90 के दशक में केंद्रीय कैबिनेट में मंत्री भी रहे। उन्‍होंने अपने कॅरियर की शुरुआत लेक्चरर के तौर पर की थी। बाद में उन्होंने बिहार यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर अपनी सेवाएं दीं। मिथिलांचल के सबसे कद्दावार नेताओं में उनका नाम शुमार किया जाता है। गौरतलब है कि सोमवार को लंबी बीमारी के बाद दिल्ली के एक अस्पताल में उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली थी।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस