पटना [काजल]। भोजपुरी सिनेमा की डांसिंग क्वीन, जिनका डांस देखकर लोग झूमने पर मजबूर हो जाते हैं, उनका नाम है- सीमा सिंह। फिल्मों में इनका डांस शुरू होते ही दर्शक अपनी सीट से उठकर नाचने लगते हैं, सीटियां बजने लगती हैं। अपनी अदाओं से बरबस सबका ध्यान खींचने वाली सीमा सिंह आज भोजपुरी सिनेमा का जाना पहचाना नाम है।

सीमा सिंह को भोजपुरी फिल्मों की आइटम गर्ल कहा जाता है। उनके डांस स्टेप और लहराते बदन को देखकर लोग उनकी तुलना मशहूर बॉलीवुड फिल्मों की डांसर हेलेन से करते हैं। इस वजह से उन्हें हेलेन और डांसिंग क्वीन के नाम से भी बुलाया जाता है।

पढें - अपनी कातिल मुस्कान से हैं चर्चित...जानिए भोजपुरी स्टार 'आम्रपाली दुबे' को मुस्कान से

250 से अधिक भोजपुरी फिल्मों में किया है आइटम सांग

सीमा सिंह अपने छोटे से कैरियर में अब तक करीब 250 से अधिक भोजपुरी फिल्मों में आइटम सांग कर चुकी हैं। आजकल वो बतौर निर्मात्री प्रियंका चोपड़ा की हाल ही में रिलीज हुई भोजपुरी फिल्म 'बम-बम बोल रहा है काशी' में आइटम सांग करने को लेकर फिर से चर्चा में हैं।

'बम-बम बोल रहा है काशी' में मिली सराहना

'बम-बम बोल रहा है काशी' में मुख्य भूमिका में आम्रपाली दुबे और दिनेशलाल यादव निरहुआ की एक्टिंग शानदार है और इस बेहतरीन फिल्म में सीमा सिंह ने भी लाजवाब डांस किया है, जिसकी सबने सराहना की है।

इसमें सीमा पर फिल्माए गाने के बोल हैं 'बुलेरो की चाबी' और इसे गुजरात के हलोल में फिल्माया गया है। इसके कोरियोग्राफर कानू मुखर्जी हैं। यह गाना इस वक्त बिहार और यूपी के लोगों की जुबान पर चढ चुका है और भोजपुरी ऑडियंस का पसंदीदा गाना बन चुका है।

सीमा ने कहा - पापा नहीं चाहते थे फिल्मों में काम करूं

सीमा ने बताया कि उनको बचपन से ग्लैमर पसंद था, उन्हें फिल्मों में काम करने का शौक था, लेकिन उनके पापा नहीं चाहते थे कि वे फिल्म इंडस्ट्री में काम करें। उनकी मम्मी ने उन्हें बहुत सपोर्ट किया। उन्होंने बताया कि आज मैं जो कुछ हूं, मम्मी के सपोर्ट की वजह से हूं।

उनका डांस देखकर उनके फ्रेंड्स उन्हें फिल्मों में जाने की सलाह देते थे। वो और उनकी बड़ी बहन एक साथ डांस करतीं थीं। इसके बाद दोनों स्टेज शो करने लगीं, फिर सीमा ने फिल्मों की ओर रूख कर लिया।

पढ़ें - भोजपुरी फिल्मों के आमिर खान - दिनेश लाल यादव 'निरहुआ'...जानिए उनकी जिंदगी

बतौर एक्ट्रेस भी कर चुकी हैं काम

सीमा सिंह को अभिनय पसंद था और उनका सपना था कि वे बतौर एक्ट्रेस फिल्मों में काम करें। सीमा की ये इच्छा भी पूरी हुई और उन्होंने 'चोरवा बनल दामाद' में अभिनय किया। इस फिल्म में उनके अपोजिट थे भोजपुरी स्टार पवन सिंह। इस फिल्म में काम करके हीरोइन बनने की उनकी तमन्ना पूरी हो गई ।

सीमा की पहली फिल्म

बतौर डांसर सुनील बुबना की फिल्म 'कहां जइब राजा नजरिया लड़ाई के' सीमा की पहली फिल्म थी। सीमा भोजपुरी फिल्मों के अलावा राजस्थानी, मराठी, हिंदी और गुजराती फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। उन्होंने वेस्टर्न और क्लासिकल डांस की ट्रेनिंग भी ली है। उनकी फेवरेट एक्ट्रेस श्रीदेवी हैं।

आयटम गर्ल कहलाना बुरा नहीं लगता

सीमा ने बताया कि उन्हें आइटम गर्ल कहलाने में भी गर्व महसूस होता है। आखिर आइटम नंबर्स से ही उनकी पहचान बनी है। उन्हें अपने काम से संतुष्टि मिलती है। आज उनकी अपनी अलग पहचान है, लोग उन्हें भोजपुरी सिनेमा की हेलेन कहते हैं, इससे उन्हें खुशी मिलती है, अच्छा लगता है कि लोग डांसर के रूप में उन्हें पहचानते हैंं।

Posted By: Kajal Kumari