जागरण संवाददाता, पटना: स्थानीय सराफा बाजार में साप्ताहिक कारोबार के अंतिम दिन शनिवार को मिलाजुला रुख देखने को मिला। चांदी के भाव में 500 रुपये प्रति किलो की तगड़ी गिरावट आई। हालांकि सोना का भाव पूर्वस्तर पर स्थिर बना रहा। इस समय सराफा बाजार में त्योहारी खरीदारी चल रही है। जीउतिया लाकेट के साथ ही अन्य आभूषणों की भी अच्छी मांग निकल रही है। चांदी का भाव आज 500 रुपये प्रति किलो गिरकर 61,500 रुपये पर आ गया। एक दिन पूर्व भी चांदी के भाव में 100 रुपये प्रति किलो की गिरावट आई थी। इस तरह से दो सत्रों के कारोबार में ग्राहकों को 600 रुपये प्रति किलो की राहत मिली है। सोना बिठूर का भाव आज 48200 रुपये और सोना 22 कैरेट का भाव 48050 रुपये प्रति दस ग्राम पर स्थिर रहा।

एक दिन पूर्व शुक्रवार को भी सोना का यही भाव था। सराफा कारोबारियों का कहना है कि इस समय जीउतिया लाकेटों की मांग अच्छी निकल रही है। इसके साथ ही सामान्य ग्राहकी भी संतोषजनक है। सराफा बाजार में ग्राहकों की भीड़ बनी हुई है। दोपहर में गर्मी के कारण बाजार थोड़ा सुस्त रहता है लेकिन शाम ढलने के साथ ही ग्राहकों की भीड़ बढ़ जाती है। सराफा कारोबारी विकास कुमार ने कहा कि अक्टूबर मध्य तक सोना और चांदी के कीमतों में मजबूती आने की संभावना है। त्योहारी के साथ ही वैवाहिक आभूषणों की भी मांग निकलने लगेगी। इस वजह से कीमतों में उछाल आने की आशंका है। अभी सोना और चांदी के भाव निचले स्तर पर हैं इसलिए ग्राहकी तेजी है। दीपावली और वैवाहिक आभूषणों के लिए भी बुकिंग चल रही है। अभी बुकिंग कराने वाले अपेक्षाकृत ग्राहक कम कीमत में ही धनतेरस पर सिक्कों के साथ आभूषणों की डिलीवरी ले पाएंगे। इसका लाभ लेने के लिए भी ग्राहक बाजार में आ रहे हैं।