पटना [वेब डेस्क]। बिहार में शराबबंदी का कानून लागू होने के बाद पियक्कड़ एक से बढ़कर एक तरकीब निकाल रहे हैं। कहीं जमीन में दबाकर तो कहीं शौचालय की टंकी में शराब छिपाई जा रही है। ताजा मामलों की बात करें तो अररिया में पश्चिम बंगाल से आलू-प्याज की बोरियों में शराब पकड़ी गई है। उधर, गोपालगंज में पानी की टंकी में बोतलें मिली हैं तो पटना में शराब ने एक पुरुष काे जेंडर चेंज के लिए मजबूर कर दिया।

पटना की सड़कों पर कभी जींस तो कभी साड़ी पहनकर अदा से ठुमकती मोनिका के बारे में लोगों को अंदाजा नहीं था कि वह दरअसल वेष बदलकर शराब तस्करी करने वाला शातिर अविनाश कुमार उर्फ गोल्डी है।

शहर में शराब की सप्लाई करने के लिए उसने युवती का वेश बना लिया था। पुलिस छापेमारी में उसके पास से शराब की कई बोतलें मिलीं। फेसबुक पर उसने 'मोनिका कुमारी' के नाम से प्रोफाइल भी बना रखी थी।

एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि अविनाश महिला का रूप धरकर लोगों से फर्जीवाड़ा भी करता था। उसके कई धंधे थे।

अररिया पुलिस ने बीती रात को एक ट्रक व एक अन्यल वाहन से 480 बोतल विदेशी शराब बरामद किए। उन्हें आलू-प्याज की 24 बोरियों में भरकर लाया जा रहा था। मौके से गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि शराब पश्चिम बंगाल के दालकोला से लाई जा रही थी।

उधर, गोपालगंज जिले में देर रात पुलिस ने छापेमारी कर डोर टू डोर शराब पहुंचाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया। एसपी राजीव रंजन के नेतृत्व में हुई इस कार्रवाई में पानी की टंकी में छुपा कर रखी 251 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की गईं। पुलिस ने शराब तस्करी के सरगना सरेया मोहल्ला के रहने वाले मनीष सिंह सहित शशिकांत कुमार, मनीष कुमार और संतोष कुमार केशरवानी को भी गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस