औरंगाबाद, जेएनएन। Cricketer Mohammad Kaif reached Bihar and said Mental illness is overcome by sports: भारतीय क्रिकेट टीम के बेस्‍ट फिल्‍डर के रूप में फेमस रहे मो कैफ गुरुवार को बिहार में थे। वे औरंगाबाद जिले में एक कार्यक्रम में भाग लेने आए थे। जिले के हसपुरा प्रखंड में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने आए क्रिकेटर मो कैफ को लेकर स्‍थानीय लोगों में खासा उत्‍साह था। खासकर युवा कुछ ज्‍यादा उत्‍साहित थे। युवाओं में उनके साथ सेल्‍फी खिंचाने की होड़ मची हुई थी। मौके पर उन्‍होंने कहा कि खेल से ठीक होती है मानसिक बीमारी। खेल जीवन का अभिन्‍न अंग है। बता दें कि उत्‍तर प्रदेश के रहनेवाले क्रिकेटर मो कैफ पिछले साल 13 जुलाई को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्‍यास ले लिया था।   

दरअसल, विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस को लेकर गुरुवार को औरंगाबाद के हसपुरा प्रखंड मेंटाथॉन दौड़ का आयोजन किया गया था। पीरू गांव स्थित तकिया खेल मैदान में आयोजित इस प्रतियोगिता काफी संख्‍या में युवा शामिल हुए। प्रतियोगिता में प्रथम से 10वें स्‍थान तक आनेवाले प्रतिभागियों को सम्‍मानित किया गया। उन्‍हें क्रिकेटर मो कैफ ने सम्‍मानित किया। 

समारोह में शामिल होकर क्रिकेटर मो कैफ खुश नजर आ रहे थे। गांव में बुलाने के लिए उन्होंने ग्रामीणों के प्रति आभार प्रकट किया। मौके पर उन्‍होंने कहा कि जागरूकता लाने के उद्देश्य से विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर दौड़ का आयोजन एक सराहनीय कदम है। इससे मानसिक रोग से ग्रसित मरीजों को लाभ मिलेगा। मानसिक बीमारियों को दूर करने का खेल बेहतर माध्यम है। उन्‍होंने कहा कि खेल मानव जीवन का अभिन्‍न अंग है। उन्‍होंने कहा कि इसके माध्‍यम से लोग मानिसक बीमारी के प्रति सजग भी होगा और ऐसे लोगों को समाज मदद भी करेगा।  

उधर मेंटाथॉन दौड़ में शामिल होनेवाले प्रतिभागियों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए एक घंटे तक पीरू गांव से हसपुरा पटेल चौक तक मुख्य पथ में बाइक व अन्य वाहनों का परिचालन बंद रखा गया। मो कैफ को देखने के लिए लोग काफी संख्‍या में जुटे थे। 10 किलोमीटर तक इस दौड़ का आयोजन किया गया। गांव में यह प्रतियोगिता पिछले तीन वर्षों से आयोजित की जा रही है।  

दौड़ प्रतियोगिता में तीसरे वर्ष भी हसपुरा प्रखंड के किशुनपुर गांव के सुधीर कुमार प्रथम स्थान पर रहे। उन्‍हें 10 हजार रुपये का चेक देकर पुरस्कृत किया गया। द्वितीय स्थान पर रहे उत्तर प्रदेश के मऊ निवासी मनीष कुमार को पांच हजार एवं तृतीय स्थान पर रहे दिनेश कुमार को ढाई हजार से पुरस्कृत किया गया। चौथे से 10वें स्थान तक रहे सुधीर कुमार, दिनेश कुमार, अंकित कुमार,सुलमचन्द, पनेंद्र कुमार, हरे कृष्ण पटेल व राजीव रंजन को सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस