पटना, जेएनएन। बिहार में कोरोना जांच की संख्या लगातार बढ़ रही है। शनिवार को 75426 लोगों की जांच हुई। इनमें 3992 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें सर्वाधिक 534 संक्रमित पटना जिले से मिले हैं। वहीं शनिवार को कोरोना संक्रमण की वजह से और 19 लोगों की जान चली गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में पिछले पांच महीने में कोरोना के 9.46 लाख से ज्यादा टेस्ट हो चुके हैं। जिनमें 75786 पॉजिटिव मिले हैं।

2408 हुए ठीक, रिकवरी रेट 64.22

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में 2408 लोग कोरोना को पराजित करने में सफल हुए। अब तक 48673 लोग इस बीमारी से स्वस्थ हुए हैं। इसके साथ ही रिकवरी रेट 64.22 हो गया है। 

17 जिलों से मिले सर्वाधिक संक्रमित

शुक्रवार को पटना से 534 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। पटना के अलावा अररिया में 106, बेगूसराय में 210, भोजपुर में 119, बक्सर में 131, पूर्वी चंपारण में 139, गोपालगंज में 102, कटिहार में 193, मधुबनी में 117, मुजफ्फरपुर में 118, नालंदा में 120, रोहतास में 131, समस्तीपुर में 147, सारण में 111, सिवान में 107, वैशाली में 160 और पश्चिम चंपारण में 102 पॉजिटिव मिले हैं।

80 हजार के पार पहुंचेगा आंकड़ा

सरकार कोरोना मरीजों के बेहताशा बढ़ते आंकड़ों पर अंकुश लगाने के लिए तमाम उपाय सुनिश्चित करने में जुटी है। जांच की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों के अनुसार अब प्रतिदिन 80 हजार से अधिक लोगों की कोरोना जांच कराने की तैयारी है। महज हफ्ते भर के अंदर करीब तीन गुना जांच की रफ्तार बढ़ी है। वहीं, अभी तक 11 लाख से अधिक एन-95 मास्क बांटे गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए निजी अस्पतालों को भी भुगतान के आधार पर कोरोना मरीजों के इलाज की अनुमति दी गई है। अब तक 153 निजी अस्पतालों में 3237 बेड की व्यवस्था की गई है।  

Posted By: Akshay Pandey

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस