पटना, जेएनएन। बिहार में कोरोना ने 20000 की संख्या पार कर ली है। बुधवार को एक बार फिर 1320 नए कोरोना मरीज मिले हैं जिसके बाद कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 20173 हो गई है। इनमें से अबतक 13019 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं। आज सुबह से कुल छह मरीजों की मौत हो गई है। तीन मरीजों की पटना के एनएमसीएच में मौत हुई है तो वहीं गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल में भी दो मरीजों की मौत हो गई है। भागलपुर में एक कोरोना संदिग्ध मरीज की दवा दुकान पर ही मौत हो गई। वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अपनी मां और पत्नी सहित कोरोना पॉजिटिव मिले हैं तो वहीं राजभवन में भी कोरोना पहुंच गया है।

एनएमसीएच में दाल व्यवसाई समेत तीन कोरोना पॉजिटिव की मौत

 कोविड अस्पताल एनएमसीएच में इलाज के दौरान दाल व्यवसाई सहित तीन कोरोना संक्रमित मरीजों  की मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार मंसूरगंज निवासी 67 वर्षीय दाल व्यवसायी की बुधवार की सुबह वेंटिलेटर पर इलाज के दौरान मौत हो गई। रोटेरियन पुत्र ने बताया कि 4 दिनों से निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। सांस लेने में परेशानी थी। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल ने डिस्चार्ज कर दिया। एनएमसीएच में भर्ती करने के 3 घंटे बाद ही मौत हो गई। पुत्र का आरोप था कि किसी डॉक्टर ने आकर पिता को नहीं देखा ना ही इलाज किया।

दूसरी मौत भभुआ निवासी 50 वर्षीय एक व्यक्ति की हुई। यह सदर अस्पताल भभुआ से रेफर होकर 13 जुलाई को आए थे। हाइपरटेंशन, डायबिटीज के मरीज होने के साथ ही कोरोना पॉजिटिव थे। तीसरी मौत पूर्वी चंपारण निवासी 52 वर्षीय एक व्यक्ति की हुई। यह सर्जिकल आईसीयू में भर्ती थे कोरोना पॉजिटिव इस मरीज को सांस लेने में दिक्कत थी।

मगध मेडिकल अस्पताल, गया में 2 मरीज की मौत

अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल,  गया में बुधवार को 2 मरीज की मौत हो गई। अस्पताल के अधीक्षक डॉ. हरिश्चंद्र हरि ने बताया कि चंदौती के एक 60 साल के बुजुर्ग की मौत इलाज के दौरान हो गई। उनका इलाज लेवल 3 में किया जा रहा था। उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी। वह कोरोना संक्रमित थे। इसके अलावा गया के ही एक अन्य व्यक्ति ने भी इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस व्यक्ति  की जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। वहीं बोधगया से एक व्यक्ति गंभीर हालत में मेडिकल अस्पताल लाया गया। जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

गौरतलब है कि मंगलवार को मेडिकल अस्पताल में 6 मरीजों की मौत हुई थी। इसमें एक कोरोना वायरस संक्रमित मरीज की मौत हुई थी  बीते कुछ दिनों से अस्पताल में हर रोज 1-2 मरीज की मौत होने से यहां भर्ती होने पहुंच रहे मरीज व उनके स्वजनों में चिंता है।

दवा लेने मेडिकल पहुंचे युवक की मौत, तीन घण्टे से पड़ा हुआ शव

भागलपुर के कोतवाली इलाके के एमपी द्विवेदी रोड स्थित आत्माराम मेडिकल स्टोर में दवा लेने गए एक युवक की अचानक मौत हो गयी। वह अस्थमा की दवाई लेने के लिए मेडिकल पहुंचा था। उसकी मौत से हड़कंप मचा हुआ है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस