पटना, स्‍टेट ब्यूरो। कोरोना की बुरी खबरों के बीच यह अच्‍छी खबर है। बिहार में संक्रमण के दोगुने होने की रफ्तार कम हुई है। साथ ही मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की रफ्तार बढ़ने लगी है। बिहार में मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की रफ्तार देश में नंबर दो पर है। पहले स्‍थान पर तमिलनाडु है।

आठ दिन पहले 29 अप्रैल तक राज्य में संक्रमितों की संख्या 383 थी, जिनमें 66 स्‍वस्‍थ हो चुके थे। लेकिन आज की तस्‍वीर काफी बदली हुई है। अभी तक मिले कोरोना के कुल 547 मरीजों में 203 स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। 29 अप्रैल के बाद ही 138 लोग कोरोना को पराजित कर घर वापस लौट चुके हैं।

स्वस्थ होने की दर करीब 37 फीसद

स्‍वस्‍थ होने की दर पर नजर डालें तो बिहार में यह काफी अच्छा है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अनुसार देश में सात मई की सुबह में कोरोना संक्रमित मामलों की कुल संख्या 52952 थी, जिनमें से 15266 महामारी को परास्त करने में सफल रहे हैं। देश में ठीक होने का औसत करीब 29 फीसद है। जबकि, बिहार में कोरोना के मरीजों के ठीक होने का फीसद करीब 37 है।

तमिलनाडु के बाद दूसरे नंबर पर बिहार

देश के पांच प्रमुख कोरोना प्रभावित राज्यों की बात करें तो बिहार कोरोना को पराजित करने के मामले में तमिलनाडु के बाद सबसे आगे है। कोरोना को पराजित कर रहे अन्‍य उल्‍लेखनीय राज्‍य आंध्र प्रदेश, दिल्ली, गुजरात और महाराष्ट्र हैं। बिहार में अब तक 203 संक्रमित इस महामारी को परास्त करने में सफल रहे हैं।

पांच प्रमुख राज्यों में संक्रमण व स्‍वस्‍थ होने की दर, एक नजर

प्रदेश            कुल संक्रमित         स्‍वस्‍थ हुए      स्‍वस्‍थ होने का फीसद

तमिलनाडु         4458                 1485                 35.59   

बिहार               547                   202                   37.11

आंध्रप्रदेश         1717                  589                   34.30

दिल्ली              5104                 1468                 28.79

गुजरात            6245                 1381                 22.11

महाराष्ट्र          15525                2829                 18.15

(आंकड़े: बिहार- 07 मई सुबह 10 बजे तक, अन्‍य राज्‍य- 06 मई, सुबह 10 बजे तक)

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस