पटना, जेएनएन। बिहार में शुक्रवार की सुबह जहां दो मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित (Corona virus) मरीजों की संख्या बिहार में 9 हो गई है तो वहीं अब बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एईएस, यानि चमकी बुखार ने भी दस्तक दे दी है।

मुजफ्फरपुर जिले के SKMCH के पीआइसीयू वार्ड संख्या दो में शुक्रवार को सकरा प्रखंड के बाजी बुजुर्ग निवासी मुन्ना राम के पुत्र आदित्य कुमार (तीन वर्ष) को भर्ती किया गया। बच्चे की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

बता दें कि बिहार में शुक्रवार के बाद अबतक एक भी मामला पॉजिटिव नहीं आया है, लेकिन संदिग्धों की सूची में शुक्रवार को 304 नए लोग शामिल किए गए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना संदिग्धों की संख्या 1760 हो गई. बता दें कि गुरुवार तक 1456 लोग सर्विलांस में लिए गए थे

पटना के अगमकुआं स्थित राजेंद्र मेडिकल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (RMRI) के निदेशक डॉक्टर प्रदीप दास के अनुसार शुक्रवार को दो लोगों की अंतिम रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिनमें एक सिवान जिले का युवक है जो हाल ही में दुबई से लौटा था। वहीं दूसरा संक्रमित युवक नालंदा जिले के नगरनौसा का निवासी है। वह उसी पटना के जगनपुरा स्थित सरनाम अस्पताल का कर्मचारी है जिसमें मुंगेर निवासी संक्रमित युवक भर्ती हुआ था।

इसके बाद संक्रमित दोनों लोगों के गांवों को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है और इन लोगों के संपर्क में आए सभी स्वजन के साथ अन्य लोगों को क्वारंटाइन कर उनके नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

बेगूसराय में दो संदिग्ध मरीजों की मौत

वहीं, बेगूसराय में गुरुवार की रात कोरोना के दो संदिग्ध की मौत के बाद दहशत छाया है। बछवाड़ा थाना क्षेत्र की गोविंदपुर पंचायत के गांव में युवक और साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र की सनहा पंचायत के गांव में एक महिला की मौत हुई है।

बताया जा रहा है कि दोनों कुछ दिन पूर्व दूसरे राज्य से अपने गांव आए थे और दोनों के सैंपल पटना आरएमआरआइ भेजे गए हैं, लेकिन उनकी जांच रिपोर्ट अबतक नही आई है। इसके साथ ही दोनों के परिवार के एक दर्जन से ज्यादा लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है।

अस्पताल से भाग गए कोरोना संदिग्ध के मरीज

वहीं शुक्रवार भागलपुर के मायागंज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मरीज फरार हो गए हैं, इसकी सूचना अस्पताल अधीक्षक डॉक्टर आरसी मंडल ने जिलाधिकारी को दी है। दोनों संदिग्ध मरीज ममलखा और खरीक के बताए जा रहे हैं।

बिहार में इस मौसम में एईएस का पहला मरीज भर्ती

मुजफ्फरपुर जिले में एक तीन साल का बच्चा एईएस, यानि चमकी बुखार से पीड़ित पाया गया है और उसे एसकेएससीएच में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के शिशु विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर साहनी ने बताया कि इस बच्चे में ग्लूकोज लेवल कम होने की बात सामने आई है। इस मौसम में एईएस से पीडि़त यह पहला मरीज है। अस्पताल अधीक्षक डॉ. सुनील शाही ने बताया कि एईएस पीडि़त बच्चे की इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है।

आदित्य की मां सोनामती देवी ने बताया कि गुरुवार को बच्चे को सर्दी हुई थी। गांव के ही एक चिकित्सक से दवा लेकर रात में दी गई। रात में कई बार बाथरूम जाने के लिए उठा। आज सुबह पांच बजे वह अचानक कांपने लगा। फिर उसे चमकी आने लगी। इसके बाद गांव के ही चिकित्सक के पास ले गए, जहां दो इंजेक्शन दिए गए, लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ। उसे सकरा पीएचसी ले गए। जहां से कुछ दवा देकर एसकेएमसीएच भेज दिया गया

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस