पटना, अहमद रजा हाशमी। बिहार के लिए यह बड़ी खबर है। ट्रीटमेंट के बाद पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव पायी गई। उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इस तरह राज्‍य में अब कोरोना के पॉजिटिव से निगेटिव जांच रिपोर्ट आने वाले कुल आठ मरीज हो गए हैं।

एक साथ स्‍वस्‍थ हुए पांच कोरोना पॉजिटिव मरीज

सोमवार को पटना में करोना अस्‍पताल घोषित एनएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज की दूसरी जांच रिपोर्ट भी निगेटिव आने के बाद उन पांचों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। अस्पताल प्रशासन द्वारा सिवान निवासी चार युवकों को एंबुलेंस से उनके घर भिजवाया गया, जबकि खेमनीचक निवासी शरणम अस्पताल के एक कर्मी को परिजन अपने साथ ले गए। लेकिन अभी इन सभी को 14 दिनों तक अपने घर में ही क्वारेंटाइन रहना होगा।

24 मार्च से चल रहा था इलाज, अब अस्‍पताल से छुट्टी

अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर निर्मल कुमार सिन्हा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सिवान निवासी सभी युवक 29 मार्च से भर्ती थे जबकि निजी अस्पताल सहकर्मी 24 मार्च को भर्ती हुआ था। सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

एक और मरीज में सुधार, वह भी जल्‍द होगा डिस्‍चार्ज

उन्होंने बताया कि एनएमसीएच स्थित आईडीएच अस्पताल में अभी कोरोना पॉजिटिव भर्ती 8 लोगों का इलाज चल रहा है इनमें से भी एक युवक शरणम अस्पताल के एक अन्य कर्मी की पहली जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है दूसरी जांच होने और उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उसे भी डिस्चार्ज किया जाएगा।

इसके पहले भी तीन और मरीज हो चुक स्‍वस्‍थ

बता दें कि इससे पहले एक महिला मरीज ने कोरोना पर जीत हासिल की थी और फिर उसके बाद दो युवकों ने भी कोरोना को मात दिया था। जो मरीज ठीक हुए हैं उन का कहना है कि कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद घबराना नहीं चाहिए। अस्पताल में भर्ती हो जाना चाहिए और चिकित्सक की देखरेख में पूरा इलाज कराना चाहिए। इस तरह कोरोना वायरस पर जीत दर्ज की जा सकती है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस