पटना। पीएमसीएच में कोरोना संक्रमण की जांच की कवायद तेज हो गई है। रियल टाइम पीसीआर मशीन भी इंस्टॉल की गई है। सैंपल लेने के लिए आरएमआरआइ से प्रर्याप्त संख्या में किट भी मंगा ली गई है, लेकिन मशीन में लगने वाली एक एक्सट्रक्शन किट उपलब्ध नहीं रहने से इसे चालू नहीं किया जा रहा है। पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विमल कारक ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को इसकी पूरी जानकारी दी है। प्रधान सचिव ने अविलंब व्यवस्था कराने का आश्वासन भी दिया है।

प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी ने बताया कि मशीन में लगने वाला किट आने के एक-दो दिन बाद से ही जांच शुरू होगा। इसी दौरान इसका ट्रायल भी ले लिया जाएगा। आइसोलेशन के लिए कम पड़ा कॉटेज, आंख विभाग में 100 बेड तैयार: कोरोना वायरस के संदिग्ध या पॉजिटिव मरीज के रखने के लिए पीएमसीएच के कॉटेज में आइसोलेशन बेड कम होने के बाद आंख विभाग में 100 बेड का नया आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है। पहले दिन मंगलवार को यहां तीन संदिग्धों को भर्ती किया गया है।

पीएमसीएच के प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी ने बताया कि आइसोलेशन बेड कम होने के कारण आंख विभाग में नया वार्ड बनाया गया है। इसमें मंगलवार को तीन मरीज भी भर्ती किए गए। 11 संदिग्धों को कॉटेज में भर्ती किया गया है। छह मरीज को डिस्चार्ज किया गया, जबकि सात सैंपल की जांच के लिए आरएमआरआइ भेजा गया है। मंगलवार की देर रात तक इनकी रिपोर्ट नहीं आई थी। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। तबतक इनपर निगरानी रखी जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस