पटना, जेएनएन। राजेंद्र नगर टर्मिनल से नई दिल्ली के लिए चलने वाली 12393-12394 संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस को मधुपुर तक विस्तार देने की रेल मंत्रालय की योजना के विरोध में सोमवार को पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव, डॉ. सीपी ठाकुर समेत आठ सांसदों ने आवाज बुलंद की है।

सांसदों ने ऐसी स्थिति में आंदोलन की चेतावनी दी है। सांसदों ने रेलवे बोर्ड की मंशा की निंदा करते हुए कहा कि पटना से लेकर दिल्ली तक विरोध होगा। शीघ्र ही इस संबंध में रेलमंत्री से मिलकर बात की जाएगी। 

 ज्ञात हो कि संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस को मधुपुर तक विस्तार देने के मुद्दे पर दैनिक जागरण एक हफ्ते से खबरें प्रकाशित कर अभियान चला रहा है। पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव ने पूर्व-मध्य रेल के महाप्रबंधक से संपूर्ण क्रांति के विस्तारीकरण की योजना का विरोध किया है।

उनका समर्थन डॉ. सीपी ठाकुर, चंदन सिंह, चंदेश्वर प्रसाद सिंह, कौशलेंद्र कुमार, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, विजय कुमार समेत आठ सांसदों एवं तीन सांसद प्रतिनिधियों ने किया है। सांसदों ने महाप्रबंधक को लिखित ज्ञापन भी सौंपा। रामकृपाल यादव ने कहा कि पिछले 16 साल से यह ट्रेन समय से राजेंद्रनगर से दिल्ली के लिए चल रही है।

पटना से नई दिल्ली के लिए राजधानी एक्सप्रेस व संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस ही सीधी ट्रेनें हैं। राजधानी एक्सप्रेस की सारी बोगियां एसी हैं जिनसे आम यात्रियों का जाना संभव नहीं है। संपूर्ण क्रांति ही एकमात्र ऐसी ट्रेन है जिससे आम व खास, दोनों सफर करते हैं।

इस ट्रेन की ऑक्युपेंसी 213 फीसद है। जबकि रेलवे में प्रावधान है कि जिस ट्रेन की ऑक्युपेंसी 70 फीसद से कम हो तभी उसका सेवा विस्तार दिया जा सकता है। इतना ही नहीं यह ट्रेन राजेंद्रनगर टर्मिनल में मात्र 10 घंटे के लिए ही ठहरती है जबकि मेंटेनेंस के लिए कम से कम छह घंटे का समय देना ही होता है। ऐसे में इस ट्रेन को मधुपुर तक विस्तार देना जनता के साथ धोखा होगा। 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप