पटना [जेएनएन]। बिहार में चल रही राजनीतिक हलचल के बीच कांग्रेस ने एक बार फिर सीएम नीतीश कुमार को एंट्री अॉफर देते हुए कहा है कि नीतीश एनडीए से बाहर निकलते हैं तो कांग्रेस बैठकर बात करेगी। कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि दरवाजा बंद करने जैसा कोई मामला नहीं है। हमारा मानना है कि समान विचारधारा के लोग एक साथ एक छत के नीचे आएं। 

कौकब कादरी ने ये बातें तब कहीं हैं जब राजद नेता तेजस्वी यादव ने मजबूती से नीतीश कुमार के महागठबंधन में एंट्री को लेकर बड़ा बयान दिया था। तेजस्वी ने कहा था कि नीतीश चाचा के लिए महागठबंधन के दरवाजे बंद हैं और अगर वो महागठबंधन में आते हैं तो तेजस्वी से बड़ा सत्ता का लालची और कोई नहीं होगा।

राजद की ओर से आए इस बयान के बाद आज फिर कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि जदयू और राजद में कोई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है। 

इससे पहले कांग्रेस के कुछ विधायकों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करने के साथ ही महागठबंधन में उनकी वापसी का समर्थन किया था और कहा था कि महागठबंधन को नीतीश कुमार की जरूरत है।

इसपर कांग्रेस की राज्य इकाई ने अपने विधायकों की उक्त राय को उनकी व्यक्तिगत राय बताते हुए खारिज कर दिया और उन्हें ऐसे मुद्दों पर अनावश्यक बयान देने से बचने को कहा था और साथ ही ये भी कहा था कि सिर्फ कांग्रेस हाई कमान ही कोई फैसला लेने के लिए अधिकृत हैं।

इस पर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा था कि नीतीश कुमार के कद को स्वीकार करने के लिए कांग्रेस विधायकों को वह धन्यवाद देते हैं, लेकिन महागठबंधन में लौटने के प्रति हम रुचि नहीं रखते हैं।  

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस