पटना। आचार संहिता हटते ही राजधानी की सड़कें चमकने लगेंगी। निविदा की सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई हैं। पथ निर्माण विभाग को सात साल तक सड़कों के रखरखाव के लिए एजेंसी का चयन करना है। सात साल में करीब 600 करोड़ रुपये रखरखाव पर खर्च होंगे। पटना पश्चिम पथ प्रमंडल के लिए एजेंसी को कार्य भी मिल गया है। नई राजधानी पथ प्रमंडल और पटना पूर्वी पथ प्रमंडल की एजेंसी आचार संहिता हटते ही तय हो जाएगी। तीनों पथ प्रमंडल के लिए दो-दो पैकेज बना है। यानी छह कंपनियां पटना जिले की सड़कों का सात साल तक मेंटेनेंस करेंगी। फिलहाल सभी सड़कों का कालीकरण होगा।

बीते दिसंबर माह में सड़कों की रखरखाव की मियाद पूरी हो गई है। आचार संहिता लागू होने के कारण एजेंसी तय नहीं हो पाई थी। शहरी क्षेत्र में तीन पथ प्रमंडल हैं। नई राजधानी पथ प्रमंडल की सड़कों का सात साल के रखरखाव के लिए 266 करोड़ की व्यवस्था की गई है। जबकि पटना पूर्वी पथ प्रमंडल की निविदा प्रक्रिया अभी तक पूरी नहीं हो पाई है। पटना पश्चिम पथ प्रमंडल की सड़कों को सात साल तक चकाचक रखने के लिए 166 करोड़ में निविदा दिया जा चुका है। आचार संहिता हटते ही सड़कों के निर्माण में तेजी आएगी। बेली रोड के समानांतर बनेंगी 14 किमी लंबी सड़क : बेली रोड के समानांतर सड़क निर्माण का मार्ग आचार संहिता हटते ही प्रशस्त हो जाएगा। फाइनेंसियल बिड खुलना रह गया है। 13.80 किमी लंबी सड़क का निर्माण 80 करोड़ की लागत से होगी। निविदा की प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई हैं। आचार संहिता लागू होने के कारण अंतिम पक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी। पटना-दीघा फोर लेन विश्वश्वरैया भवन के पीछे पुनाईचक एसबीआइ बैंक के आगे से होते हुए दीपनारायण सिंह सहकारी संस्थान के बगल से एजी कॉलोनी, पासपोर्ट कार्यालय तक आएगा। फिर यहां बेली रोड में दानापुर नहर पर बने फ्लाईओवर के पास निकलेगा। डबल लेन की सड़क होगी। इस सड़क के निर्माण से बेली रोड में यातायात बाधित रहने की स्थिति में विकल्प मिल जाएगा। कई मोहल्ले सीधे मुख्य सड़क से जुड़ जाएंगे। पाटलिपुत्र गोलंबर से राजापुर पुल पर डबल लेन की सड़क :

पाटलिपुत्र गोलंबर से तथा अशोक राजपथ में गोसाईटोला मोड़ से राजापुर पुल तक डबल लेन सड़क का निर्माण होगा। यह नेहरू नगर वन ऑफिस होते हुए जाएगी। राजापुर पुल के पास नाले को पाटा जाएगा। सड़क के निर्माण मद में 30 करोड़ रुपये आवंटित हो गए हैं। फाइनेंसियल बिड खुलना रह गया है। सड़क निर्माण के बाद बोरिग रोड का भार घट जाएगा। नेहरू नगर मुख्य सड़क पर आ जाएगा। आनंदपुरी को एक बड़ी सड़क मिल जाएगी। पाटलिपुत्र से बोरिग कैनाल रोड जाना आसान हो जाएगा।

स्मार्ट सिटी क्षेत्र की सड़कों पर लगा ग्रहण :

पथ निर्माण विभाग स्मार्ट सिटी क्षेत्र की सड़कों का रखरखाव नहीं करेगा। इसे रखरखाव कार्य से अलग कर दिया गया है। इसमें एक्जीबिशन रोड, फ्रेजर रोड, डाकबंगला चौराहा, वीरचंद पटेल पथ, बुद्धमार्ग और छज्जूबाग आदि की सड़कें आती हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस