पटना [जेएनएन]। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर तंज कसते हुए कहा कि मैं फालतू के सवालों का जवाब नहीं देता, उन्होंने पहले से जो कर्म किया है वो उसकी तार्किक परिणति पर पहुंच गए हैं और मैं एेसे लोगों के फालतू सवालों का जवाब नहीं देता। 

शिक्षा की समस्या पर चिंता जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि शिक्षा की समस्या किसी राज्य विशेष की समस्या नहीं है, बल्कि यह पूरे देश की समस्या है। शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों को मिलकर काम करना होगा। इसके लिए लोगों की मानसिकता बदलनी होगी और पूरे सिस्टम को ठीक करना होगा।

नीतीश कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालयों के लिए राज्य सरकार ज्यादा हस्तक्षेप नहीं कर सकती, उसके अपने दायरे हैं। मेरे हिसाब से इसे बदलने की जरूरत है और केंद्र सरकार को इस विषय में  राज्य सरकार की क्षमता निर्धारित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि बिहार में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए शिक्षकों का बड़े पैमाने पर बहाली करने के लिए नियुक्ति प्रक्रिया जारी है, जल्द ही शिक्षकों की बहाली की जाएगी। लोगों का भी झुकाव शिक्षक बनने की तरफ होना चाहिए। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि शिक्षकों को पहली तारीख को तनख्वाह दे सकें। विश्वविद्यालयों में सरकार सीधी बहाली नहीं करती। हायर सेकेंड्री को बेहतर बनाने के लिए हमारी सरकार कृतसंकल्पित है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस