पटना [जेएनएन]। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को दानापुर के नासरीगंज से लेकर पटना सिटी स्थित कंगन घाट के बीच गंगा घाटों पर छठ की तैयारियों का जायजा लिया। उनके साथ उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी भी थे। करीब तीन घंटे तक निरीक्षण के दौरान उन्‍होंने अधिकारियों को कई निर्देश दिए।
अधिकारियों को दिए ये निर्देश
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन व बिजली के इंतजाम के बारे में जानकारी ली। उन्‍होंने खतरनाक घाटों पर सुरक्षा के विशेष इंतजाम के निर्देश दिए। मुख्‍यमंत्री ने वहां जल-स्‍तर देखकर बैरिकेडिंग सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि दीघा पुल क्रॉस कर भी लोग छठ का अर्घ्‍य देने जाएंगे, इसका भी ध्‍यान रखना होगा। जिन रास्तों से श्रद्धालुओं को घाटों तक पहुंचना है, उन्‍हें भी ठीक करने का निर्देश दिया।
आज पुन: उन्होंने यह दोहराया कि जल संसाधन विभाग कटाव पर नजर रखे।


निरीक्षण के बाद कही ये बात
निरीक्षण के बाद उन्होंने कहा कि छठ को ध्यान में रख अधिक से अधिक घाट तैयार किए जा रहे हैैं। इसी महीने तीन तारीख को उन्होंने तैयारियों का जायजा लिया था। जिलाधिकारी और नगर आयुक्त पूरी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। तैयारी संतोषजनक कह सकते हैं। काम में तेजी है और बेहतर ढंग से भी हो रहा है। वैसे उन्होंने मुख्य सचिव को भी कहा है कि वह स्वयं घाटों पर चल रही तैयारियों पर नजर रखें।
निरीक्षण में ये भी थे शामिल
मुख्‍यमंत्री के साथ उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव व नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा भी मौजूद थे।
निरीक्षण के क्रम में पटना की मेयर सीता साहू, मुख्य सचिव दीपक कुमार, डीजीपी केएस द्विवेदी, पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव मनीष कुमार वर्मा, पीएचईडी के सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव, एडीजी जेएस गंगवार, प्रमंडलीय आयुक्त आरएन चोंग्थू व नगर आयुक्त अनुपम कुमार सुमन भी मौजूद थे।

Posted By: Amit Alok