पटना [राज्य ब्यूरो]। सरकार ने वीवीआइपी और वीआइपी की सुरक्षा व्यवस्था में फेरबदल किया है। इस संबंध में गृह विभाग ने सोमवार को आदेश जारी कर दिया। सरकार ने पूर्व राज्यपाल और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद समेत छह लोगों की सुरक्षा को वापस ले ली है। राज्यपाल लालजी टंडन-मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जेड प्लस सुरक्षा और एएसएल प्रोटेक्शन में रहेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद, राबड़ी देवी जेड प्लस सुरक्षा में रहेगीं।

इसी तरह जीतनराम मांझी की जेड श्रेणी सुरक्षा बहाल रहेगी। डाॅ. जगन्नाथ मिश्रा को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, राधामोहन सिंह, सांसद शत्रुघ्न सिन्हा को जेड श्रेणी मिलेगी। जबकि, मंत्री रविशंकर प्रसाद को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी। लोकसभा की पूर्व स्पीकर मीरा कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव को वाई प्लस की सुरक्षा में रखा गया है।

अब राज्य में 32 लोग हैं जिनके पास विशेष श्रेणी की सुरक्षा है। जेड श्रेणी की सुरक्षा में आने वालों में डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, पूर्व सांसद शहनवाज हुसैन, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह और पूर्व मंत्री अशोक चौधरी हैं।

वाई श्रेणी सुरक्षा प्राप्त प्रमुख लोग

विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी , हाईकोर्ट पटना के मुख्य न्यायाधीश, पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह, अखिलेश प्रसाद सिंह, सांसद शरद यादव, पूर्व मंत्री शकील अहमद, मंत्री पशुपति कुमार पारस, पूर्व विधायक रणविजय सिंह, सांसद सुशील कुमार सिंह, पूर्व मंत्री पीके शाही, पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रुढी, विधायक मदन मोहन झा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव।

इनकी सुरक्षा हटाई गई

राष्ट्रपति का पदभार ग्रहण करने के बाद राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को बतौर बिहार के राज्यपाल जो सुरक्षा मिली हुई थी उसे वापस ले लिया गया है। छत्तीसगढ़-त्रिपुरा के राज्यपाल रहे डीएन सहाय व पूर्व सांसद मो तस्लीमुद्दीन का निधन हो चुका है। इस कारण उनको आवंटित सुरक्षा दस्ता बुला लिया गया है। सांसद प्रेमचंद गुप्ता का बिहार में घर नहीं होने के कारण और दलाई लामा की सुरक्षा खत्म कर दी गई है। पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह को कोई विशेष खतरे की सूचना न होने के कारण सुरक्षा हटा दी गई है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप