महनार (वैशाली), संवाद सूत्र। महनार थाना क्षेत्र में दो दिन पूर्व किशोरी की बेरहमी से की गई हत्‍या की उच्‍चस्‍तरीय जांच की मांग सांसद चिराग पासवान (MP Chirag Paswan) ने की है। शुक्रवार को करनौती पंचायत पहुंचकर चिराग पासवान ने मृतका के पिता से मुलाकात की। उन्‍हें सांत्‍वना दी। करनौती में कोचिंग के लिए निकली 14 वर्षीय किशोरी की हत्‍या कर करनौती बही चंवर में शव फेंक दिया गया था। शरीर पर कई तरह जख्‍म के निशान थे। चिराग पासवान ने कहा कि दो दिन पहले गांव की बच्‍ची की बेरहमी से हत्‍या कर दी गई लेकिन पुलिस अब तक हत्‍यारों को पकड़ने में सफल नहीं हो पाई है। उन्‍होंने कहा कि सरकार इस मामले की उच्‍चस्‍तरीय जांच कराए। दोषी को स्‍पीडी ट्रायल चलाकर फांंसी की सजा दी जाए। 

अपराधियों को नहीं पकड़ पाती पुलिस

चिराग ने राज्‍य की कानून व्‍यवस्‍था पर भी हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि बिहार में हत्‍या, लूट, दुष्‍कर्म जैसी घटनाएं आम बात हो गई है। लेकिन शर्मनाक स्थिति यह है कि ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधियों को पुलिस पकड़ ही नहीं पाती। उन्‍होंने कहा कि बिहार की सु‍र्खियांं केवल अपराध की खबर ही बनती है। वे चाहेंगे कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) यहां आएं और परिवार को टाइम बाउंड कार्रवाई का आश्‍वासन दें। उन्‍होंने यह भी कहा कि उनसे नहीं संभलता तो मामला सीबीआई को सौंप दें। 

दो दिन पूर्व की गई थी कोचिंग संचालक की पुत्री की हत्‍या

बता दें कि मंगलवार को गांव की बच्‍ची कोचिंग के लिए निकली थी लेकिन वापस नहीं आई। मृतका के पिता पटोरी में कोचिंग चलाते हैं। उसी कोचिंग में पढ़ने के लिए उनकी बेटी हर दिन जाती थी। मंगलवार को भी वह कोचिंग ही गई थी। लेकिन 10 बजे दिन तक लौटकर नहीं आई। तब उसकी मां ने पति को फोन लगाया। वहां से बच्‍ची के पिता ने कहा कि वह आज कोचिंग आई ही नहीं। इसके बाद परिवार में हड़कंप मच गया। स्‍वजनों ने काफी खोजबीन की लेकिन उसका पता नहीं चला। पुलिस को भी सूचना दी गई। इसी क्रम में बुधवार को चंवर से उसका शव बरामद किया गया। घटना की वजह का पता नहीं चल सका है। इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। 

 

Edited By: Vyas Chandra