पटना [जेएनएन]। राबड़ी देवी से पूछताछ के लिए मंगलवार को सीबीआइ की तीन सदस्यीय टीम लालू आवास पहुंची। करीब एक घंटे तक टीम ने राबड़ी देवी से नोटबंदी के दौरान अवामी को-अॉपरेटिव बैंक से कालेधन को सफेद करने के मामले में पूछताछ करती रही। वजह ये है कि करोड़ों रुपये के हुए घपले की राबड़ी देवी गवाह हैं।पहले जानकारी मिली कि सीबीआई की टीम रेलवे टेंडर घोटाला मामले में पूछताछ करने आई है। लेकिन सीबीआइ मुख्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि आइआरसीटीसी घोटाले में नहीं, बल्कि नोटबंदी के दौरान अवामी को-आपरेटिव बैंक से कालेधन को सफेद करने के मामले में टीम राबडी देवी का बयान लेने आई थी।
अवामी बैंक में सीबीआइ ने छापेमारी कर करोडों के कालेधन को सफेद करने की शिकायत पर कार्रवाई की थी और इस मामले में राबडी देवी गवाह हैं।

अवामी बैंक के चेयरमैन लालू यादव के बेहद करीबी पूर्व विधान पार्षद अनवर अहमद हैं। इस मामले में अनवर के बेटे को भी अभियुक्त बनाया गया है। टीम में तीन सदस्य शामिल थे, जिनमें एक महिला अॉफिसर भी थी।  घंटे भर चली पूछताछ के बाद टीम पटना सीबीआइ अॉफिस लौट गई ।

जानकारी के मुताबिक सीबीआइ अधिकारी जब राबड़ी देवी से पूछताछ कर रहे थे उस वक्त लालू यादव भी घर में ही मौजूद थे। लेकिन वो सामने नहीं आए वो सो रहे थे। पूछताछ के साथ ही टीम ने राबड़ी से कुछ दस्तावेजों का सत्यापन भी कराया। लालू के वकील चितरंजन प्रसाद सिन्हा ने बताया कि पटना के एक मामले में पूछताछ के लिये सीबीआई की टीम पहुंची थी। टीम ने राबड़ी देवी से पूछताछ की है। 

इलाज कराने मुंबई जाएंगे लालू

बता दें कि  राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव इलाज कराने के लिए मुंबई जाएंगे और एशियन हार्ट अस्पताल में अपना इलाज कराएंगे। यहां इलाज कराने के बाद लालू यादव बेंगलुरु जाएंगे। बेंगलुरु के ग्लोबल हॉस्पिटल में लालू की किडनी का इलाज होगा। लालू का शुगर लेवल काफी बढ़ा हुआ है। लालू के मुंबई रवाना होने से पहले ही उनके आवास पर सीबीआइ पहुंची और पर्याप्त जानकारी लेकर चली गई।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस