सिवान/ सारण [जागरण टीम]। भारतीय जनता पार्टी (BJP) से विधान पार्षद (MLC) टुन्ना पांडेय (Tunna Pandey) के छोटे भाई अभिषेक पांडेय (Abhishek Pandey) गत 18 जनवरी से लापता थे। सिवान के रहने वाले अभिषेक पांडेय की मोटरसाइकिल रविवार 19 जनवरी को छपरा जंक्शन के स्टैंड से बरामद की गई है। काफी खोजबीन के बाद जब कोई सुराग नहीं मिला तो स्वजनों ने सिवान के मैरवा थाने में अपहरण की आशंका की एआइआर दर्ज कराई। मंगलवार को वे हाजीपुर स्‍टेशन पर मिले तो पुलिस के साथ स्‍वजनों ने राहत की सांस ली।

सिवान व सारण में जगह-जगह छापेमारी

सिवान के दरौली थानान्तर्गत नेतवार निवासी संस्कृति इंटरनेशनल स्कूल के संचालक व अभिषेक के बड़े भाई धनंजय पांडेय ने अपहरण की एफआइआर दर्ज कराई थी। इसके बाद सारण व सिवान पुलिस ने कई स्थानों पर छापेमारी की। मैरवा थाना की टीम ने सारण के भगवान बाजार तथा छपरा नगर थाना पुलिस के सहयोग से शहर के कई होटलों में छानबीन की।

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले

पुलिस ने छपरा जंक्शन और शहर के विभिन्न जगहों पर लगे सीसी कैमरे के फुटेज भी खंगाले। अभिषेक की मोटरसाइकिल छपरा जंक्शन से बरामद होने के बाद घटना के तार सारण से जोड़कर देखे जाने लगे। मैरवा थाना की पुलिस ने जांच में छपरा जंक्शन के जीआरपी तथा आरपीएफ का भी सहयोग लिया।

80 लाख की व्यवस्था की कह रहे थे बात

एफआइआर के अनुसार अभिषेक पांडेय 18 जनवरी की दोपहर घर से निकले थे। वे करीब 80 लाख की व्यवस्था की बात कह रहे थे। सायं चार बजे के बाद उनका मोबाइल स्विच ऑफ आने लगा।

पुलिस महकमे ने ली राहत की सांस

बीजेपी एमएलसी के भाई के अपहरण को देखते हुए पुलिस महकमे में हड़कम्‍प मच गया। इस बीच मंगलवार को उनके मिल जाने के बाद स्‍वजनों के साथ पुलिस ने भी राहत की सांस ली। उनकी बरामदगी को लेकर विस्‍तृत जानकारी की प्रतीक्षा है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस