पटना, जेएनएन। बाढ़ के उमानाथ मंदिर घाट पर शनिवार की सुबह जीजा और उसकी नाबालिग साली ने एक दूसरे का हाथ थामकर गंगा में छलांग लगा दी। घटना सुबह करीब दस बजे हुई। हादसे के बाद स्थानीय लोग और मछुवारों ने दोनों को खोजना चाहा पर पानी का बहाव तेज होने के कारण उनका कुछ पता नहीं चला। सूचना पर बाढ़ थाने की पुलिस एनडीआरएफ के साथ पहुंच गई है। दोनों बिहार शरीफ के रहने वाले हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बिहारशरीफ के लहेरी थाना क्षेत्र निवासी रामप्रवेश (30) और उसकी नाबालिग साली दो दिन पहले घर से फरार हो गए थे। इसके बाद उनकी खोजबीन की जा रही थी। शनिवार की सुबह दोनों बाढ़ के उमानाथ मंदिर घाट पर पहुंचे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दोनों फोटो ले रहे थे। उनके पास एक बैग भी था। जिसमें कपड़े रखे थे।

बातचीत के दौरान दोनों घाट के किनारे गए और एक दूसरे का हाथ थामकर गंगा में छलांग लगा दी। माजरा देखते ही आसपास के लोग दौड़े। मछुवारों तुरंत नदी में जाकर हुए दोनों की खोजबीन शुरू कर दी पर किसी का कुछ पता नहीं चल सका। उनके द्वारा लाए गए बैग में मिले कागजात के आधार पर दोनों की पहचान की गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बताया कि मामला प्रेम-प्रसंग का है। दोनों कुछ दिन पहले घर से फरार हुए थे। परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है। दोनों की गंगा में खोजबीन की जा रही है।

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप