राज्य ब्यूरो, पटना : राजग से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलग होने के बाद से भाजपा का प्रदेश नेतृत्व सरकार पर लगातार हमलावर है। भाजपा कभी नीतीश सरकार के मंत्रियों की घेराबंदी कर रही है तो कभी उनकी कार्यशैली पर सवाल उठा रही है। भाजपा के तमाम बड़े नेता सरकार को घेरने का कोई भी मौका हाथ से नहीं जाने दे रहे। सोमवार को भाजपा ने एक बार फिर नीतीश कुमार पर हमलावर तेवर दिखाए और कहा, नीतीश कुमार की अब एनडीए में वापसी संभव नहीं।

तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार से डरना जरूरी है

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने सोमवार को एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार से डरना जरूरी है। क्योंकि नीतीश कुमार कब पलटी मारेंगे, यह ऊपर वाला भी नहीं जानता। उन्होंने कहा कि भाजपा किसी भी कीमत पर नीतीश कुमार को एनडीए में वापस नहीं लेगी। 2024 के चुनाव के बाद राजद कार्यकर्ताओं की ट्रेनिंग के लिए उनका आश्रम खुलवाकर रहेगी। 

धृतराष्ट्र पुत्र मोह में सिर्फ सीएम कुर्सी की ओर देख रहे

नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने भी सोमवार को बयान जारी कर कहा कि नीतीश कुमार अपनी सेना बढ़ाने में लगे हैं, लेकिन नारायणी सेना, जो राष्ट्रवाद और सत्य को लेकर आगे बढ़ रही है, जीत उसी की होगी। लालू प्रसाद पर हमलावर होते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि धृतराष्ट्र पुत्र मोह में सिर्फ सीएम कुर्सी की ओर देख रहे हैं। अर्जुन बने सीएम भी पीएम बनने की महत्वाकांक्षा में राज्य में हो रहे हर अनैतिक कार्य की ओर से आंखें मूंदे हुए हैं। गौरतलब है कि राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा था कि 2025 में नीतीश अपना आश्रम खोलकर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दें और तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनवाएं। हालांकि शिवानंद के इस बयान के बाद से जदयू की ओर से पलटवार भी तेज कर दिया गया था। 

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट