पटना [रमण शुक्ला]। BJP President Amit Shah in Vaishali, Bihar: CAA, NRC के पक्ष में लोगों को जागरूक करने देश के गृहमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दुनिया के पहले लोकतंत्र लिच्छिवी गणतंत्र की राजधानी रही वैशाली पहुंचे और विशाल जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने दो टूक कहा कि बिहार में भाजपा-जदयू का गठबंधन अटूट है और बिहार में नीतीश के नेतृत्व में ही विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा।

अमित शाह ने बयानबाजी देने वाले नेताओं से धमकी भरे लहजे में कहा कि जो लोग गठबंधन और एनडीए के नेता को लेकर भ्रम फैला रहे हैं, उनसे मैं साफ कह देना चाहता हूं कि इसमें कहीं कोई संशय नहीं है। इसे लेकर कुछ कहने या सुनने की जरूरत नहीं है। 

शाह ने मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने जंगलराज से बिहार को मुक्त किया। उन्होंने कहा कि अब बिहार में कोई हमारे गठबंधन में सेंधमारी नहीं कर पाएगा। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NRC) के बारे में बताते हुए कहा कि ये कानून लोगों के हित के लिए है और तमाम विपक्षी पार्टियां इसे लेकर भ्रम फैला रहे हैं, इसे लोगों को समझना चाहिए। अमित शाह ने कांग्रेस के राहुल गांधी, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। 

उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी पार्टियां सीएए के विरोध में दंगे करा रही हैं। राजद-कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए शाह ने कहा कि जंगलराज में बिहार तीन प्रतिशत की दर से विकास कर रहा था, जबकि राजग की सरकार में 11 प्रतिशत की दर से विकास हुआ है। लालू बिहार को लालटेन युग में छोड़ कर गए थे, हम एलईडी युग लेकर आए हैं। लालू लूट-ऑर्डर का राज चलाते थे, हम लॉ एंड ऑर्डर का राज चला रहे हैं।

मत के लालच में मारी गई है मति 

अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा, लालू, ममता और केजरीवाल पाकिस्तान के साथ सुर से सुर मिला रहे हैं। इमरान खान के साथ सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का सुबूत मांग रहे हैं। सीएए और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) पर जनता को गुमराह कर रहे हैं। लोगों को बरगलाने में जुटे हैं। मत के लालच में विपक्षियों की मति मारी गई है। 

बकौल शाह, सीएए पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक रूप से प्रताडि़त हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई और पारसी शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए लाया गया है। इससे किसी की नागरिकता छीनने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। विपक्षी पार्टियां राजनीतिक उल्लू सीधा करने के लिए युवाओं को खासकर मुस्लिम भाइयों को गुमराह कर रही हैं। कहा, मैं मुसलमान भाइयों से अपील करता हूं कि वे सीएए को पढ़ें। राहुल बाबा, लालू यादव, अरविंद केजरीवाल और ममता बनर्जी को भी कहना चाहता हूं कि वे भ्रम फैला कर देश की जनता को गुमराह करना बंद करें।

दलितों के साथ अन्याय कर रहा विपक्ष 

उन्‍होंने कहा कि दूसरे देशों से भारत में अपनी इज्जत बचाने आए हिंदू शरणार्थियों में 70 प्रतिशत से अधिक दलित हैं। देश के दलित और आदिवासी आज यह देख रहे हैं कि कांग्रेस, सपा, बसपा, राजद, तृणमूल, आप और कम्युनिस्ट पार्टियां किस तरह दलितों के खिलाफ काम कर रही हैं।

अयोध्या में बनेगा गगनचुंबी मंदिर 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370- 35ए हटाने, तीन तलाक, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के बाद अयोध्या में गगनचुंबी मंदिर बनाने जैसी नरेंद्र मोदी की पहल से विपक्षी पार्टियां बौखला गई हैं। सभा में मुख्य मंच पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह, नित्यानंद राय, अश्विनी चौबे, उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, बिहार भाजपा के संगठन महामंत्री नागेंद्र नाथ और बिहार सरकार में शामिल भाजपा के मंत्रीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम स्थल पर दो मंच बनाए गए थे। दूसरे मंच पर पार्टी के पदाधिकारियों और वरिष्ठ नेताओं को बैठाया गया था। 

बोले केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय कानून एवं संचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने गुरुवार को वैशाली में आयोजित जन जागरण सभा में कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) नागरिकता देने का कानून है, छीनने के लिए नहीं। विरोधी दल  आमजन के बीच इसके बारे में गलत सूचना प्रसारित कर भ्रमित कर रहे हैं। पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में प्रताडि़त ङ्क्षहदू, जैन, सिख एवं पारसी धर्म के लोगों को भारत की नागरिकता प्रदान करने के लिए यह कानून बनाया गया है। 

 उन्होंने कहा कि आज जिस पवित्र धरती पर वे खड़े हैं, इसकी परंपरा सभी को सम्मान देने की रही है। बेवजह कुछ लोग इसे लेकर बवाल खड़ा कर रहे हैं। विरोधी झूठा प्रचार कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून  लागू होने से देश के किसी भी नागरिक की नागरिकता नहीं जाएगी।

वैशाली के खरौना पोखर स्थित संग्रहालय मैदान पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि गांव-गांव जाकर विरोधियों के झूठे प्रचार का पर्दाफाश कर उन्हें बेनकाब करें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में सरकार का मूलमंत्र ही है, सबका साथ एवं सबका विकास। प्रधानमंत्री मोदी सभी की ङ्क्षचता करते हैं।

अमित शाह की एेसी पांचवी जनसभा

विदित हो कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल जनता दल यूनाइटेड (JDU) सुप्रीमो व बिहार के मुख्‍यमंत्री (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) एनआरसी के खिलाफ हैं। उन्‍होंने राज्‍य में इसे लागू नहीं करने की घोषणा की है।

दूसरी ओर बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह सीएए व एनआरसी के समर्थन में देशभर में घूमकर लोगों को इसकी बारीकियों से अवगत करा रहे हैं। इसके पहले वे दिल्ली, जोधपुर, गांधीनगर और जबलपुर में जनसभाएं कर चुके हैं। वैशाली में आज की जनसभा अमित शाह की ऐसी पांचवी जनसभा थी।

जनसभा को ले भगवामय हुई वैशाली

वैशाली की जनता गृह मंत्री अमित शाह के स्वागत को आतुर दिखी। शाह की हुंकार की सोचकर ही बीजेपी समर्थक रोमांचित हो रहे थे। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री (Minister of State Home) नित्यानंद राय (Nityanand Rai) की मेजबानी में पहली बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह वैशाली आए थे। पार्टी ने गृह मंत्री की अगवानी में समाजवादियों की धरती (Land of Socialists) को केसरिया झंडा, होर्डिंग और बैनर से पाट भगवामय बना दिया था।

विरोधियों के खिलाफ बनाई रणनीति

दरअसल, सीएए व एनआरसी का विरोध करने वाले राजनीतिक दलों और संगठनों को जवाब देने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) और बीजेपी ने रणनीति बनाई। इसी कड़ी में सरकार के मंत्री और पार्टी के आला नेता देशभर में जनसभाएं कर जनता को नए कानून की बारीकियों से रूबरू करा रहे हैं। इसी सिलसिले में अमित शाह वैशाली पहुंचे।

भविष्य के लिए करेंगे खबरदार

वैशाली में अमित शाह की जनसभा को लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि राष्ट्रविरोधी ताकतों (Anti National Elements) को अमित शाह आईना दिखाएंगे और भविष्य के लिए खबरदार करेंगे।

जनसभा में भारी जुटान 

अमित शाह को सुनने के लिए वैशाली के इर्द-गिर्द के जिलों से भी भारी जुटान हुई। बीजेपी और सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ आम जनता भी सभा में पहुंची। जनसभा के प्रचार-प्रसार की गूंज दूर-दूर तक सुनाई दे रही थी।

हफ्ते भर से कैंप किए थे नित्यानंद राय

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय स्वयं हफ्ते भर से वैशाली में कैंप किए हुए थे। व्यवस्था चाक-चौबंद रहे, इसकी सख्त हिदायत दी गई थी। पुराने झंडों की जगह नए झंडे लगाए गए थे। बिहार बीजेपी के संगठन महामंत्री नागेंद्र नाथ अंतिम क्षणों की तैयारियों में जुटे रहे।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस