राज्य ब्यूरो, पटना : राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि जदयू अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह केंद्रीय मंत्री न बन पाने की हताशा में ओछी बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात में पांच बार के विधायक, सबसे बड़ी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और लोकसभा का अपना पहला चुनाव 5.5 लाख वोटों से जीतने वाले गृहमंत्री अमित शाह के राजनीतिक कद के आगे ललन सिंह अपना बौनापन पचा नहीं पा रहे हैं। मोदी ने कहा कि आइआरसीटीसी मामले में ललन ने ही सीबीआइ को सुबूत दिए थे। जांच एजेंसी को धमकाने के कारण तेजस्वी की जमानत भी रद की जा सकती है। 

ललन ने कभी विधानसभा चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं की

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ललन सिंह ने कभी विधानसभा का चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं की, तीन बार एमपी बने तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कृपा से और  एमएलसी उन्हें राज्यपाल कोटे से बनवाया गया था। अब  घटिया बयानों से हताशा जाहिर कर रहे हैं। 

शाह ने नहीं दिया मुस्लिम-कार्ड खेलने का मौका

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद और ललन सिंह इसलिए हताश हैं कि अमित शाह ने केवल विकास की बात कर विरोधियों को मुस्लिम-कार्ड खेलने का मौका नहीं दिया। 

तेजस्वी की जमानत धमकियों के कारण रद हो सकती है

मोदी ने कहा कि ललन सिंह नौ अगस्त के पहले तक आइआरसीटीसी घोटाले में लालू परिवार की संलिप्तता के सबूत दे रहे थे। जांच में तेजी लाने के लिए सीबीआइ के संपर्क में थे, लेकिन अब एनडीए तोड़ने में सीबीआइ की भूमिका का अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आइआरसीटीसी घोटाले में 28 सितंबर को आरोप तय होने वाले हैं और तेजस्वी यादव की जमानत भी उनकी धमकियों के कारण रद हो सकती है।

Edited By: Akshay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट