शेखपुरा, जागरण संवाददाता। शेखपुरा और आसपास के जिलों में भाजपा नेत्री का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। लोग इस वीडियो को देखकर हैरान तो हैं ही, मजे भी खूब ले रहे हैं। पूरा मामला पंचायत चुनाव की मतगणना से जुड़ा है। इस मामले में शेखपुरा के थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस इस मामले में भाजपा नेत्री के अलावा उनके पति को भी गिरफ्तार कर सकती है। दरअसल, वीडियो में दिख रहा है कि भाजपा नेत्री माइक की केबल से खुद के गले में फंदा डालने की कोशिश कर रही हैं। कई महिला पुलिस उनको रोकने की कोशिश में जुटी हैं। बताया जा रहा है कि शेखपुरा जिले की भाजपा नेत्री रेशमा भारती जिला परिषद चुनाव के लिए उम्‍मीदवार थीं। उन्‍होंने मतगणना में हार की खबर मिलने के बाद मतगणना केंद्र पर खूब बवाल किया। हंगामे के बाद पुनर्मतगणना भी कराई गई, लेकिन नतीजा नहीं बदला।

एसडीओ ने दर्ज कराई है प्राथमिकी

बुधवार को शेखपुरा के डायट केंद्र पर अरियरी प्रखंड के पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान हंगामे और रोड़ेबाजी की घटना को लेकर भाजपा नेत्री रेशमा भारती एवं उनके पति मनोज कुमार के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह प्राथमिकी जिला परिषद चुनाव के निर्वाची पदाधिकारी की हैसियत से अनुमंडल पदाधिकारी निशांत ने दर्ज कराई है। रेशमा तथा मनोज के साथ एक दर्जन से अधिक अज्ञात लोगों को भी अभियुक्त बनाया गया है। यह प्राथमिकी शेखपुरा थाना में दर्ज कराई गई है। इसकी जानकारी एसडीपीओ कल्याण आनंद ने दी ।

दोबारा हुई मतगणना, फिर भी हार गईं रेशमा

बुधवार को मतगणना के दौरान गड़बड़ी का आरोप लगाकर मतदान केंद्र के बाहर जमकर हंगामा किया गया था। कुछ शरारती तत्व ने केंद्र पर बाहर से रोड़ेबाजी भी कर दी थी। रोड़ेबाजी में एक पुलिस जवान को चोट भी आई। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करके उपद्रवियों को खदेड़ा। हंगामे के दौरान रेशमा भारती ने गले में तार बांधकर फांसी लगाने का भी प्रयास किया। बाद में वरुणा तथा चोड़ दरगाह पंचायतों के जिला परिषद की दोबारा मतगणना करानी पड़ी। फिर भी रेशमा भारती अरियरी से जिला परिषद की उम्मीदवार थीं तथा 261 वोट के अंतर से पराजित हुई।

आठ दिसंबर को होने हैं चुनाव, गिरफ्तारी की लटकी तलवार

रेशमा भारती के पति मनोज भी शेखपुरा पूर्वी से जिला परिषद के उम्मीदवार हैं। शेखपुरा पूर्वी में आठ दिसंबर को मतदान होना है। अब दोनों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। वहीं वरूणा पंचायत के मुखिया प्रत्याशी द्वारा उपद्रव किए जाने के बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।

Edited By: Shubh Narayan Pathak