पटना [राज्य ब्यूरो]। रालोसपा नेता द्वारा उपेंद्र कुशवाहा को बिहार में एनडीए का चेहरा बनाये जाने की मांग पर सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा है कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के एनडीए में रहने या नहीं रहने से उसकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पडऩे वाला है।

भाजपा विधायक ने कहा कि नीतीश कुमार बिहार में एनडीए के सबसे बड़े नेता है। राज्य में कुशवाहा वोट या तो नीतीश कुमार के साथ है या भाजपा के साथ। उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा के चुनाव में यह साबित हो चुका है।

ज्ञानू ने कहा कि रालोसपा के कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि का उपेंद्र कुशवाहा को 2020 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री के चेहरा के तौर पर प्रोजेक्ट करने की मांग करना मुंगेरी लाल के हसीन सपने की तरह है। उन्होंने कहा वैसे भी नागमणि की अब कोई राजनैतिक हैसियत रह नहीं गयी है। उनकी पत्नी सुचित्रा सिन्हा जदयू से विधान परिषद के लिए दावेदार थी। 

रालोसपा नेता नागमणी ने कहा है कि बिहार में उपेंद्र कुशवाहा का जनाधार भी बड़ा है इसीलिए आगामी विधानसभा चुनाव के लिए वो ही सीएम मटेरियल हैं और एनडीए की तरफ से वही चुनाव का चेहरा होंगे। इस बारे में हम एनडीए के नेताओं से बात करेंगे।

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप