पटना [जेएनएन]। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) परिणाम में किसी भी दल या गठबंधन (Alliance) केा स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं मिला है। इसके बाद वहां शिवसेना (Shiv Sena) व भारतीय जनता पार्टी (BJP) का गठबंधन टूट गया है। इसके लिए बीजेपी नेता प्रीती गांधी (Priti Gandhi) ने चुनावी रणनीतिकार और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) को जिम्‍मेदार ठहराया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि प्रशांत किशोर ले डूबे। उधर, जेडीयू नेता अजय आलोक (Ajay Alok) ने भी प्रशांत किशोर पर हमला बाेला है।

उद्धव को प्रशांत ने दिखाया सीएम पद का सपना! 

बताया जाता है की प्रशांत किशोर ने शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनने का सपना दिखाया था, जिस कारण शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले के तहत ढाई साल के लिए मुख्‍यमंत्री के पद की मांग रखी। इस मांग को बीजेपी ने नहीं माना। इस मुद्दे पर दोनों का करीब 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया। बताया जाता है कि प्रशांत किशोर के इस कदम का बिहार की राजनीति पर भी असर पड़ना तय है।

बीजेपी नेता ने प्रशांत को ठहराया जिम्‍मेदार

बीजेपी महिला मोर्चा की नेता व पार्टी के सोशल मीडिया विंग की राष्‍ट्रीय प्रभारी प्रीती गांधी ने महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की स्थिति के लिए प्रशांत किशोर को जिम्‍मेदार ठहराया है। अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा है कि प्रशांत किशोर ले डूबे।

जेडीयू नेता अजय आलोक ने भी किया ट्वीट

इस मामले में जेडीयू नेता अजय आलोक ने भी ट्वीट किया है। प्रशांत किशोर का नाम लिए बिना उन्‍होंने लिखा है कि शिवसेना एक मास्टर स्ट्रैटेजिस्ट (प्रशांत किशोर) से पिछले कुछ दिनों से ज्ञान ले रही थी। इसका नतीजा सब देख रहे हैं। अब महामहिम (राष्‍ट्रपति) ने और समय नहीं दिया। लगता है इस पहलू पर मास्टर साहब (प्रशांत किशाेर) ने ध्यान नहीं दिया होगा। नतीजा न तीन में न तेरह में। गफलत में सब गए। प्रशांत किशोर पर हमलावर अजय आलोक उनका नाम लिए बिना आगे लिखते हैं- ''माया मिली न राम, जय मातर साब।''

एक अन्‍य ट्वीट में उन्‍होंने तंज किया कि अब बहुत लोगों को “बाबा जी का ठुल्लु” मिलेगा। जनता का मजाक बना है पिछले 18 दिनो से। महाराष्ट्र की जनता सोचे कि इन लोगों के साथ आगे क्या करना हैं। जो भी हो रहा है, दुखद है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप