पटना [राज्य ब्यूरो]। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह के बहाने गुरुवार को भाजपा ने संगठन विस्तार के मुहिम को परवान चढ़ाने की रणनीति के लिए कमर कस ली है। मिशन-2019 को लक्ष्य बनाकर पार्टी की ओर से इस अहम कार्यक्रम को भुनाने की तैयारी है।

सरकार की ओर से जहां उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी स्वयं योग समारोह को वृहद रूप देने में जुटे रहे, वहीं भाजपा नेतृत्व ने पार्टी पदाधिकारियों से लेकर नेताओं और कार्यकर्ताओं को बूथ और शक्ति केंद्रों से लेकर मंडल, जिला और प्रदेश स्तर पर भी योग शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए थे।

कार्यक्रम में जुटे कई भाजपा मंत्री व नेता

सरकार की ओर से राजधानी के कंकड़बाग स्थित पाटलिपुत्र इनडोर स्टेडियम में योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। समारोह में राज्यपाल सत्यपाल मलिक,  केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और रामकृपाल यादव के अलावा राज्य सरकार कई मंत्रियों ने अनुलोम विलोम व प्राणायाम किए।

बिहार से अन्य केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह अपने संसदीय क्षेत्र मोतिहारी में और अश्विनी चौबे बक्सर में आयोजित योग दिवस समारोह में शामिल हुए। गिरिराज सिंह ने अपने संसदीय क्षेत्र नवादा में रहे। बिहार में पहला मौका है जब राज्यपाल सत्यपाल मलिक राज्यस्तरीय योग दिवस समारोह के गवाह बने।

स्वास्थ्य व शिक्षा विभाग ने किया शामिल होने का आग्रह

महत्वपूर्ण यह है कि स्वास्थ्य विभाग ने भी लोगों से स्वस्थ्य रहने और योग के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए लोगों से योग शिविर में शामिल होने की अपील की। इसी तरह शिक्षा विभाग ने भी योग दिवस समारोह में विद्यालय से लेकर महाविद्यालय और कोचिंग संस्थानों के छात्रों से योग दिवस समारोह में शामिल होने का आग्रह किया। सरकारी अमला के साथ भाजपा के अनुषांगिक संगठनों के अध्यक्षों और संयोजकों की भी समारोह को सफल बनाने में अहम भूमिका रही। किसान मोर्चा, भाजपा युवा मोर्चा, महिला मोर्चा के पदाधिकारियों ने भी योग दिवस समारोह में ज्यादा-से-ज्यादा संख्या में लोगों से भाग लेने की अपील की।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस