पटना, जेएनएन। Bihar weather forecast: बिहार में मानसून की बारिश लगातार जारी है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना ने राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 48 घंटे तक मेघगर्जन के साथ बारिश और वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। शुक्रवार को राज्‍य में वज्रपात से 16 लोगों की मौत हो गई। जबकि, गुरुवार को भी कई जिलों में वज्रपात से 30 लोगों की मौत हो गई थी।

मौसम विभाग ने 48 घंटे के लिए जारी की है चेतावनी

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि अगले 48 घंटे तक राज्य में ऐसी परिस्थितियां बन रही हैं, जिसके अनुसार कई जिले वज्रपात से प्रभावित होंगे। लोगों से बेवजह घरों से बाहर न निकलने और सतर्क रहने की अपील की गई है। उन्होंने कहा कि थंडरस्टोर्म के सेल एक जगह बनकर हवाओं की गति और तापमान की स्थिति के हिसाब से इधर-उधर मूवमेंट करते रहते हैं। रडार पर मिलने वाले संकेतों के आधार पर आपदा विभाग सहित विभिन्न माध्यमों से लोगों तक इसकी सूचना पहुंचाई जा रही है। 

खगड़िया में दो दिनों तक भारी बारिश व वज्रपात की आशंका

खास कर खगड़िया में दो दिनों तक होगी भारी बारिश के साथ ही वज्रपात की आशंका है। डीएम आलोक रजंन घोष ने लोगों से अपील की है कि लोग घरों में रहें, बिना वजह बाहर ना जाएं। इसके साथ ही डीएम ने इंद्रवज्र ऐप को डाउनलोड करने की सलाह भी दी है।

शुक्रवार को वज्रपात से 16 लोगों की मौत

बिहार के विभिन्न जिलों में शुक्रवार को वज्रपात से 16 लोगों की मौत हो गई । वैशाली में छह, गया में दो, रोहतास में एक, समस्तीपुर में तीन और बांका व जमुई में एक-एक लोगों की मौत वज्रपात से हुई है।

वैशाली जिले के पातेपुर की निलो रुकुंदपुर पंचायत के प्राणपुर गांव में आकाशीय बिजली से 30 वर्षीय युवक की मौत हो गई। डीह बुचौली में 65 वर्षीय अशर्फी सहनी और 10 वर्षीय निशा कुमारी तथा हरप्रसाद गांव में 22 वर्षीय कंतेश कुमार की मौत हो गई। महुआ प्रखंड की शेरपुर छतवारा पंचायत के रायभान छतवारा गांव में खेत में धान रोप रही 35 वर्षीय महिला सुनीता देवी की मौत हो गई। सहदेई के मोहम्मदपुर पोहिहारी में युवक रोशन कुमार की मौत हो गई।

गया जिले के बाराचट्टी के दिवनियां गांव में भोला यादव की पुत्री पूजा कुमारी और बांकेबाजार के रौशनगंज थाना क्षेत्र के चौगाई के अशोक कुमार की पुत्री पल्लवी कुमारी की मौत हो गई। रोहतास के भलुआड़ी गांव में धान की रोपाई करा रहे किसान पुत्र रवि कुमार की मौत हो गई।

शुक्रवार को लखीसराय जिले के कजरा थाना क्षेत्र के श्रीकिशुन पंचायत अंतर्गत श्रीघना गांव में वज्रपात से झपसू तांती व जनकदुलारी देवी की दस वर्षीय पुत्री रिमझिम कुमारी की मौके पर ही मौत हो गई। बुधौली बनकर पंचायत के पुनाडीह गांव में धान रोपने के दौरान वज्रपात से मकेश्वर यादव की 12 वर्षीय पुत्री ममता कुमारी की मौके पर ही मौत हो गई। चानन थाना क्षेत्र के चुरामनबीघा गांव में प्रकाश मिस्त्री के आंगन में महावीरी पताका पर वज्रपात हुआ। इससे घर की दो महिलाएं आरती कुमारी एवं ङ्क्षसकी कुमारी झुलस गई। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गुरुवार को गई थी 30 की जान

इसके पहले गुरुवार को बिहार में वज्रपात की विभिन्न घटनाओं में 30 लोगों की मौत हो गई थी। इनमें समस्तीपुर के नौ, पटना के छह, कटिहार के चार, पूर्वी चंपारण के तीन, मधेपुरा व शिवहर के दो-दो, पश्चिम चंपारण, औरंगाबाद, रोहतास व भोजपुर के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं।

सीएम नीतीश-अमित शाह ने जताई संवेदना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वज्रपात से लोगों की मौत पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने मृतकों के आश्रितों को तत्काल चार-चार लाख रुपए का अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है।मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैैं।  उन्‍होंने लोगों से अपील की है कि वे खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें।

बिहार में गुरुवार को वज्रपात से हुई कई लोगों की मौत पर गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर शोक जताया है। उन्होंने लिखा है कि बिहार में वज्रपात से कई लोगों के निधन की सूचना से बहुत दुख हुआ। प्रदेश प्रशासन व आपदा प्रबंधन की टीमें राहत कार्य में लगी हुई हैं। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने भी ट्वीट कर शोक संवेदना व्यक्त की है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस