पटना, आनलाइन डेस्क । जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और वामपंथी नेता कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने मंगलवार को कांग्रेस पार्टी (Congress) का दामन थाम लिया। सीपीआइ से खफा चल रहे कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने के साथ बिहार मे सियासत शुरू हो गई है। बिहार कांग्रेस के विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा (Ajit Sharma) ने कहा कि कन्हैया के कांग्रेस में शामिल होने से पार्टी को फायदा होगा। वहीं बिहार सरकार के मंत्री मंगल पांडेय (Minister Mangal Pandey) ने वामपंथी नेता कन्हैया की कांग्रेस में एंट्री को लेकर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि बेगूसराय की जनता ने किस तरह से पराजित किया था, उन्हें याद होगा। 

'देश की राजनीति करें कन्हैया कुमार'

कन्हैया कुमार की कांग्रेस में एंट्री को लेकर बिहार कांग्रेस के विधायक अजीत शर्मा ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि कन्हैया कुमार के आने से पार्टी मजूबत होगी। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव राजद और महागठबंधन के नेता हैं और कन्हैया कुमार कांग्रेस के नेता हैं। वे जेएनयू के प्रोडक्ट हैं, हम तो चाहेंगे की वो देश में भ्रमण करे और उनके जानने वाले यूथ जिस-जिस राज्य में हैं, सबको कांग्रेस पार्टी से जोड़ने का काम करें।

'बेगूसराय की हार याद होगी'

वहीं जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआइ नेता कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने पर बीजेपी ने तंज कसा है। बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि कन्हैया कुमार एक विचारधारा के साथ जुड़कर चुनाव लड़ चुके हैं। बेगूसराय की जनता ने किस तरह से पराजित किया था, उसका परिणाम भी उन्हें याद होगा।अब विचारधार बदल रहे हैं, तो कोई न कोई राजनीतिक महत्वकांक्षा होगी। उन्होंने कहा कि वो ऐसे राजनीतिक दल में शामिल हुए हैं, जिसे बिहार की जनता पहले ही नकार चुकी है। मंगल पांडेय ने कहा कि डूबती हुई नाव पर सवार होने का क्या परिमाण होता है ये सबको पता है। 

Edited By: Rahul Kumar